आप के एमएलए नहीं लेंगे गाड़ी बंगला सुरक्षा

नई दिल्ली | संवाददाता: आम आदमी पार्टी के घोषणा पत्र के अनुसार इनके विधायक भी आम आदमी की तरह ही रहेंगे. वे न ही सरकारी बंगला लेगें, न ही लाल बत्ती गाड़ी और न ही सुरक्षा. हालांकि यह कहा गया है कि विधायक छोटे सरकारी मकान ले सकते हैं. आम आदमी पार्टी ने अपना चुनाव लड़ने का मकसद, आम आदमी को सत्ता सौंपना बताया है. आप ने अपना घोषणा पत्र एक संकल्प पत्र के रूप में पेश किया है.

इसके लिये स्वराज की स्थापना की जायेगी. दिल्ली में मुहल्ला समितियों का गठन कर स्थानीय कार्य का जिम्मा तथा पैसा उन्हें ही दे दिया जायेगा. दिल्ली सरकार जो भी फैसला लेगी उस पर आम जनता की राय अवश्य ली जायेगी. बजट का एक हिस्सा सीधे इन मोहल्ला समितियों को सौंप दिया जायेगा.


आप ने अपने घोषणा पत्र में कहा है कि सरकार बनते ही दिल्ली में लोकपाल की नियुक्ति कर दी जायेगी. जिसके जांच के दायरे में सरकारी अफसर तथा कर्मचारी और सार्वजनिक क्षेत्र होगें. इस जनलोकपाल के दायरे में मुख्यमंत्री, मंत्री तथा विधायक भी होगें. भ्रष्टाचार के दोषियों को सजा होगी तथा उन्हें नौकरी से बर्खास्त कर दिया जायेगा और उनकी संपत्ति भई जब्त कर ली जायेगी. इस प्रकार आप ने अपने घोषणा पत्र में भ्रष्टाचार से छुटकारा दिलवाने के अलावा स्वराज का भी संकल्प लिया है.

बिजली के बारे यह में कहा गया है कि इसके कंपनियों का आडिट करवाया जायेगा ताकि पता चल सके कि उन्हें फायदा हुआ है या नुकसान. इसी के साथ बिजली के बिलों में गड़बड़ी को दुरस्त किया जायेगा. इसी के साथ बिजली के मीटरों की जांच करवायी जायेगी. जिससे दिल्ली के बिजली बिल आधे हो जायेंगे. बिजली कंपनियों के द्वारा किया जाने वाला भ्रष्टाचार खत्म किया जायेगा.

पानी के बारे में कहा गया है कि दिल्ली जल बोर्ड में भ्रष्टाचार व्याप्त है जिसे खत्म किया जायेगा. हर एक दिल्ली वासी के घरों में साफ तथा पर्याप्त पानी की व्यवस्था की जायेगी. इसके लिये फिर से पानी की पाइप लाइने बिछायी जायेगी. आप ने अपने घोषणा पत्र में

आरोप लगाया है कि दिल्ली के टैंकर माफियाओं को भाजपा का संरक्षण प्राप्त है. इसी के साथ सीवरेज को दुरस्त किया जायेगा तथा सार्वजनिक शौचालयों की व्यवस्था की जायेगी. करीब दो लाख शौचालयों का निर्माण किया जायेगा जिसमें से एक लाख महिलाओं के लिये होंगे.

मोहल्लों की साफ सफाई का जिम्मा मोहल्ला समितियों का होगा जिसके लिये उन्हें फंड तथा ताकत दी जायेगी. इसी के साथ प्लास्टिक पर तुरंत प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया जायेगा. स्वाथ्य के बारे में कहा गया है कि दिल्ली में प्रति हजार व्यक्ति पर 2.5 अस्पताल के बिस्तर हैं जिये बढ़ाकर 5 किया जायेगा जोकि अंतर्राष्ट्रीय पैमाना है. इसी के साथ शिक्षा को सस्ता तथा सुलभ बनाया जायेगा.

गौर तलब है कि इस घोषणा पत्र के हर अध्याय में पहले वर्तमान हालात का ब्यौरा दिया गया है, उसके बाद दिल्ली की क्या आवश्यकता है उसे तय किया गया है, उसके बाद ही जनता के समक्ष संकल्प दुहराया गया है. कुल मिलाकर यह घोषणा पत्र वैज्ञानिक आधार तथा तर्को पर तौयार किया गया है. देखना है कि दिल्ली की जनता इसको कितना पसंद करती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!