छत्तीसगढ़ बीमारू राज्य: अजीत जोगी

रायपुर । एजेंसी: छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने केंद्र सरकार द्वारा भोजन का अधिकार तथा खाद्य सुरक्षा कानून योजना लागू करने की पहल का स्वागत करते हुए कहा कि यह योजना देश की सबसे महत्वपूर्ण, महत्वाकांक्षी और दीर्घ परिणाम देने वाली योजना है, जिसे पूरे भारत देश में लागू किया जाना है.

उन्होंने कहा कि इस योजना से देश के 85 करोड़ गरीबों को प्रति माह दो से तीन रुपये किलो की दर पर चावल, गेहूं, शक्कर, दाल और तेल उपलब्ध कराया जाएगा, जिससे देश के किसी गरीब को भूखा पेट नहीं सोना पड़ेगा. इस योजना के लागू होने से छत्तीसगढ़ प्रदेश को लगभग तीन लाख हजार टन ज्यादा अनाज मिलेगा. इस तरह कुल 90 लाख टन अनाज डा. मनमोहन की सरकार छत्तीसगढ़ को उपलब्ध कराएगी.

जोगी ने कहा कि डा. रमन सरकार ने जल्दबाजी में योजना का श्रेय लेने के लिए छत्तीसगढ़ में अलग से इस योजना को लागू करा दिया है जो मात्र कागजों तक सीमित है तथा इस योजना का लाभ अभी जनता को नहीं मिला है.

उन्होंने कहा कि राज्य में जन वितरण प्रणाली के तहत केंद्र सरकार के अनाज को भाजपा की रमन सरकार चोरी और कालाबाजारी में खपत कर रही है. जोगी ने छत्तीसगढ़ प्रवास पर आईं लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष सुषमा स्वराज के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि भाजपा दबाव की राजनीति कर रही है और उनका बयान बचकाना तथा हास्यास्पद है.

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की गलत नीतियों की वजह से ही छत्तीसगढ़ बीमारू तथा गरीब प्रदेश में सबसे अव्वल रूप में गिना जा रहा है. राज्य में तीन लाख बच्चे कुपोषित हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *