अन्ना कल से अनशन पर

लखनऊ | समाचार डेस्क: अन्ना हजारे 10 दिसंबर से जनलोकपाल तथा लोकशाही के मांग पर आमरण अनशन पर बैठेंगे. इस बार उनका यह आंदोलन उनके गांव रालेगण सिद्धि में होगा. अन्ना दवारा यह आंदोलन केन्द्र पर दबाव बनाने के लिये किया जा रहा है. चार राज्यों में पराजित कांग्रेस के लिये यह खबर कई अशुभ संकेत लिये हुए है.

गौर तलब है कि अगस्त 2011 में अन्ना द्वारा चलाये गये जनलोकपाल आंदोंलन को देशव्यापी समर्थन मिला था. उसी आंदोलन में उभरे नेतृत्व ने बाद में अन्ना से अलग होकर आम आदमी पार्टी बना ली. जिसने दिल्ली के विधानसभा चुनाव में अप्रत्याशित जीत हासिल की है.

अन्ना का आमरण आंदोलन तो उनके गांव में चलेगा लेकिन देशभर में उसके समर्थन में आंदोलन चलाये जाने की योजना उनके समर्थक बना रहे हैं. भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के कार्यकर्ताओं व विभिन्न जनसंगठनों व समाजसेवी संगठनों के प्रतिनिधियों ने रविवार को पत्रकारो से बातचीत में बताया कि अन्ना हजारे के समर्थन के लिए उत्तर प्रदेश की राजधानी के झूलेलाल पार्क में भी अनशन किया जाना है. इसके लिए प्रशासन से अनुमति की प्रतीक्षा की जा रही है. यदि 10 दिसंबर तक अनुमति नहीं मिल पाती है, तो जीपीओ स्थित पटेल प्रतिमा पर अनशन व धरना आयोजित किया जाएगा.

इस बार के आंदोंलन के दौरान गांवो तथा मोहल्लों में व्यापक विचार विमर्श कर व्यवस्था परिवर्तन के लिये जनता का घोषणा पत्र जारी किया जायेगा. पहले से संकट से जूझ रही कांग्रेस के लिये इसका तोड़ निकालना मुश्किल साबित होगा. वहीं दूसरी ओर विकल्प की तलाश करने वाली जनता को एक बार फिर से अन्ना के रूप में एक मसीहा मिलने जा रहा है.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *