मसूद ‘एहतियातन हिरासत’ में!

लाहौर | समाचार डेस्क: अब पाकिस्तान से बयान आया है कि मसूद अज़हर ‘एहतियातन हिरासत’ में है. जिसका अर्थ है कि इस बार भी जैशके प्रमुख मसूद अज़हर को दिखावे के लिये हिरासत में लिया गया है. इससे पहले भी नज़रबंद मसूद को रिहा कर दिया गया था. भारत के पूर्व विदेश सचिव जी पार्थसारथी ने दो दिनों पहले एस समाचार चैनल में कहा था कि मसूद की गिरफ्तारी अमरीकी दबाव के चलते हो हुई है. आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मौलाना मसूद अजहर को पुलिस ने एहतियातन हिरासत में ले लिया गया है. पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के कानून मंत्री राणा सनाउल्लाह ने समाचार चैनल डॉन न्यूज’ के टीवी शो ‘न्यूज आई’ में एक सवाल के जवाब में अजहर को एहतियातन हिरासत में लिए जाने की खबर की पुष्टि की.

इस हिरासत को गिरफ्तारी के संदर्भ में पूछे जाने के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि यदि पठानकोट हमले में अजहर की संलिप्तता सिद्ध हो जाती है तो उसे गिरफ्तारी और कानूनी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा.


भारत का मानना है कि दो जनवरी को पंजाब के पठानकोट में भारतीय वायुसेना के अड्डे पर जिन छह आतंकवादियों ने हमला किया था, वे पाकिस्तानी थे और उनका जैश-ए-मोहम्मद से संबद्ध था.

पठानकोट हमला
जनवरी के पहले सप्ताह में पठानकोट के एयर बेस पर आतंकियों ने हमला कर दिया था. जिसमें सात सुरक्षाकर्मियों की जान चली गई थी. यह हमला जैश ने ही कराया था. पठानकोट हमलें के एक सप्ताह पहले प्रधानमंत्री मोदी अफगानिस्तान से लौटते समय ‘अचानक’ नवाज़ शरीफ़ के जन्मदिन पर मिलने पाकिस्तान चले गये थे. इससे भारत-पाक संबंधों में नरमी का संकेत मिला परन्तु पठानकोट हमलें ने इस रिश्ते पर फिर से ठंडक ला दी.

मसूद अज़हर
मसूद को फऱवरी 1994 में भारत में गिरफ्तार किया गया था. मसूद को 1999 में मजबूरन कंधार तक ले जाकर छोड़ना पड़ा था. पाकिस्तान लौटने के बाद मसूद ने साल 2000 में जैश का गठन किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!