मध्यप्रदेश में उर्वरको की कालाबाजारी

भोपाल | एजेंसी: मध्य प्रदेश में उर्वरकों की कालाबाजारी जोरो पर है. उधर, मध्य प्रदेश सरकार ने दावा किया है कि राज्य में किसानों को उनकी मांग के अनुसार खाद उपलब्ध कराया जा रहा है. दूसरी तरफ, राज्य में खाद और उर्वरक की कमी को लेकर कई स्थानों पर किसान हंगामा कर रहे हैं. किसानों का आरोप है कि सहकारी समितियां उन्हें जरूरत के अनुसार खाद उपलब्ध नहीं करा रही हैं. वहीं, राज्य में उर्वरक की कालाबाजारी भी जोरों पर है.

उर्वरक और खाद को लेकर हो रहे प्रदर्शनों के बीच मंगलवार को सरकार की ओर से जारी एक आधिकारिक बयान में राज्य में पर्याप्त मात्रा में खाद की उपलब्धता का दावा किया गया.

बयान में कहा गया कि पिछले वर्ष की तुलना में इस बार सहकारी समितियों ने ज्यादा यूरिया उपलब्ध कराया है. इस वर्ष एक अक्टूबर से आठ दिसंबर तक की अवधि में कुल छह लाख 48 हजार मीट्रिक टन यूरिया प्रदेश में उपलब्ध कराई गई है.

मध्य प्रदेश सरकार का दावा है कि प्रदेश में डीएपी और कॉम्प्लेक्स उर्वरक भी पिछले साल की तुलना में इस साल ज्यादा वितरित किए गए हैं.

बयान में कहा गया है कि इस साल अब तक दो लाख 89 हजार मीट्रिक टन डीएपी का वितरण करवाया गया है. पिछले साल यह मात्रा इसी अवधि में दो लाख 65 हजार मीट्रिक टन थी. इसी तरह इस साल आज तक 82 हजार मीट्रिक टन कॉम्प्लेक्स उर्वरक का वितरण हुआ है. पिछले साल इसी अवधि में यह मात्रा मात्र 54 हजार मीट्रिक टन थी.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *