BSF विमान क्रैश, 10 की मौत

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे से मंगलवार सुबह उड़ान भरने के कुछ मिनट बाद एक चार्टर्ड विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया. जिससे उसमें सवार सीमा सुरक्षा बल के नौ जवानों और सशस्त्र सीमा बल के सह-पायलट की मौत हो गई. विमान रांची जा रहा था. बीएसएफ की ओर से बताया गया कि मृतकों में चार्टर्ड विमान के पायलट, सह-पायलट सहित बीएसएफ के आठ कर्मी शामिल हैं.

बीएसएफ महानिदेशक डी.के. पाठक ने हादसे में मारे गए लोगों के परिवारों को 15-15 लाख रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा की.

पाठक ने संवाददाताओं को बताया, “बीएसएफ के आंतरिक कोष से 10 लाख रुपये की बजाय 15 लाख रुपये दिए जाएंगे, जो सरकार की ओर से अनुग्रह राशि है.”

विमान में सवार लोगों की पहचान डिप्टी कमांडेंट डी. कुमार, इंसपेक्टर एस.पी. शर्मा व आर.पी. यादव और सब-इंसपेक्टर रवींद कुमार, छोटे लाल व सुदंर सिंह, सहायक सब-इंसपेक्टर डी.पी. चौहान व कांस्टेबल के. रावत के रूप में हुई है.

एक अधिकारी ने कहा कि विमान के पायलट राजेश शिवरैन और सह-पायलट बी.पी. भट्ट थे.

नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री महेश शर्मा में विमान में सवार सभी 10 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की. उन्होंने बताया कि सरकार ने हादसे की जांच के आदेश दे दिए हैं.

प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि विमान इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे की चारदीवारी पार करते समय थोड़ा डगमगाता सा दिखा था.

दर्दनाक हादसे के साक्षी युवक ने संवाददाताओं को बताया, “इसने एक तरह से यू टर्न लिया और उसके बाद अचानक नीचे आ गिरा. इसके बाद आग की लपटों से घिर गया. हमने घना काला धुआं उठता देखा.”

घटनास्थल से जुड़े एक रेलवे कर्मचारी ने कहा कि उन्होंने व उनके सहयोगी ने विमान के जमीन पर गिरने के बाद भयंकर आग देखी. उन्होंने कहा, “चारों तरह आग ही आग थी, इसके अलावा कुछ नहीं दिख रहा था.”

हादसा सुबह 9.37 बजे शाहाबाद गांव में स्थित हवाईअड्डे के छोर पर हुआ. चार्टर्ड विमान ब्रीचक्राफ्ट सुपर किंग था.

दिल्ली के अग्निशमन विभाग की ओर से बताया गया कि दमकल की करीब 20 गाड़ियों ने आग पर काबू पाया.

दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे (पी) लिमिटेड की ओर से कहा गया कि उड़ान भरने के चंद मिनटों के अंदर हवाईअड्डे की चारदीवारी के बाहर एक ‘गंभीर दुखद दुर्घटना’ घटी.

एक बयान में कहा गया, “शुरुआती जानकारी के अनुसार, विमान में कुल 10 लोग सवार थे. सभी लोगों की मौत हो गई.”

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने हादसे पर शोक जताते हुए कहा कि उन्हें मृतकों के बारे में पता चला. उन्होंने कहा, “मेरी संवेदनाएं व प्रार्थनाएं शोकसंतप्त परिवारों के साथ हैं.”

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताते हुए ट्विटर पर लिखा, “मेरी संवेदनाएं शोक में डूबे परिवारों के साथ हैं.”

सूचना के बाद घटनास्थल पर पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने हादसे में लोगों की जान जाने को बहुत ‘तकलीफदायक’ बताया.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी शोक जताया. इसके अलावा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हादसे को ‘बेहद दुर्भाग्यपूर्ण’ बताया और पीड़ित परिवारों के प्रति अपनी दिली सहानुभूति जाहिर की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *