छत्तीसगढ़ में 53% तंबाखू के गुलाम

रायपुर | विशेष संवाददाता: छत्तीसगढ़ में 53 फीसदी लोग तंबाखू का सेवन करते हैं. इसकी जानकारी संचालक स्वास्थ्य आर. प्रसन्ना ने दी है. उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थानों में धूम्रपान तंबाकू सेवन करने वालों का चालान करने के संबंध में शासन को प्रस्ताव भेजा गया है. उन्होंने बताया कि तंबाकू व तंबाकू से बने उत्पाद के सेवन से ओरल कैंसर मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है. इसके सेवन से मानव के प्रतिरोधक क्षमता और कार्यक्षमता प्रभावित होती है.

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य संचालक श्री प्रसन्ना ने बताया कि देश में ‘ग्लोबल अडल्ट टैबेको सर्वे 2010’ के अनुसार मिजोरम में 67 फीसद तंबाकू व तंबाकू से बने उत्पाद का सेवन करते हैं जबकि छत्तीसगढ़ में यह 53 फीसदी है. सबसे कम गोवा में 9 फीसदी है.

उल्लेखनीय है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कराये गये सर्वे के मुताबिक छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय स्तर से ज्यादा लोग तंबाखू का सेवन करते हैं. भारत में राष्ट्रीय औसत के हिसाब से 15 वर्ष के उपर से 34.6 फीसदी लोग तंबाखू का सेवन करते हैं जबकि छत्तीसगढ़ में 53.2 फीसदी लोग इसका सेवन करते हैं.

भारत में राष्ट्रीय स्तर पर 15 साल से उपर के पुरुषों में तंबाखू का सेवन 47.9 फीसदी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पाया जबकि छत्तीसगढ़ में यह 63.9 फीसदी है.

इसी तरह से भारत में राष्ट्रीय स्तर पर 15 साल से उपर के महिलाओं में तंबाखू का सेवन 20.3 फीसदी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पाया जबकि छत्तीसगढ़ में यह 41.6 फीसदी है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के सर्वे में यह बात निकलकर आई कि राष्ट्रीय स्तर पर तंबाखू का सेवन 6-30 मिनट तक 38.9 फीसदी लोग करते हैं जबकि छत्तीसगढ़ में 46.2 फीसदी. जहां तक 31-60 मिनट तक तंबाखू सेवन की बात है तो राष्ट्रीय स्तर पर इसे 15.2 फीसदी लोग करते हैं और छत्तीसगढ़ में 8.9 फीसदी करते हैं. इसी तरह से तंबाखू का सेवन राष्ट्रीय स्तर पर 60 मिनट से ज्यादा 24.6 फीसदी लोग करते हैं वहीं छत्तीसगढ़ में 14.9 फीसदी लोग करते हैं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के सर्वे से एक चौकाने वाली बात भी निकल कर आई है. इस सर्वे से पता चला है कि देश में धुंआरहित तंबाखू का सेवन करने वालों में छत्तीसगढ़ तीसरे स्थान पर है. धुंआरहित तंबाखू का सबसे ज्यादा सेवन बिहार में 49 फीसदी, झारखंड में 48 फूसदी तथा छत्तीसगढ़ में 47 फीसदी लोग करते हैं.

गौरतलब है कि तंबाखू के सेवन से मुंह तथा फेफड़े का कैंसर होता है.

One thought on “छत्तीसगढ़ में 53% तंबाखू के गुलाम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *