छत्तीसगढ़ make in India में आगे

रायपुर | संवाददाता: ‘मेक-इन-इंडिया’ अभियान को छत्तीसगढ़ में शानदार सफलता मिली है. देश का यह नया और छोटा राज्य छत्तीसगढ़ कई पुराने तथा बड़े राज्यों को पीछे छोड़कर इस अभियान के तहत पूंजी निवेशकों को आकर्षित करने में देश के प्रथम चार राज्यों में शामिल हो गया है.

जनवरी 2015 से जून 2016 तक छत्तीसगढ़ सरकार को विभिन्न उद्यमियों से 45 हजार 25 करोड़ रूपये के पूंजी निवेश के लिए इण्डस्ट्रीयल इंटरप्रेन्योर मेमोरेण्डम प्राप्त हुये हैं. कर्नाटक, गुजरात, महाराष्ट्र के बाद छत्तीसगढ़ चौथा ऐसा राज्य है, जहां मेक-इन-इंडिया के तहत उद्योग लगाने के लिए उद्यमियों से बड़ी मात्रा में पूंजी निवेश आकर्षित हुआ है.


तमिलनाडू, पश्चिम बंगाल, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, केरल, हरियाणा, असम और बिहार जैसे राज्यों को भी छत्तीसगढ़ ने इस मामले में पीछे छोड़ दिया है.

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इसे छत्तीसगढ़ के औद्योगिक विकास की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण और उत्साहवर्धक बताते हुए प्रसन्नता व्यक्त की है. उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री के ’मेक-इन-इंडिया’ के सपने को साकार करने के लिए छत्तीसगढ़ लगातार प्रयास कर रहा है.

छत्तीसगढ़ ने जहां डेढ़ साल की इस अवधि में मेक-इन-इंडिया अभियान के तहत 45 हजार 25 करोड़ रूपये का पूंजी निवेश आकर्षित करने की दिशा में सफलता हासिल की है, वहीं इस दौरान आंध्रप्रदेश ने 29 हजार 602 करोड़, ओड़िशा ने 28 हजार 436 करोड़ रूपये, तमिलनाडू ने 23 हजार 113 करोड़ रूपये, पश्चिम बंगाल ने 20 हजार 823 करोड़, मध्यप्रदेश ने 17 हजार 882 करोड़ रूपये, उत्तर प्रदेश ने 17 हजार 830 करोड़ रूपये, राजस्थान ने आठ हजार 563 करोड़ रूपये, पंजाब ने पांच हजार 686 करोड़ रूपये और केरल ने निवेशकों से पांच हजार 104 करोड़ रूपये का इण्डस्ट्रीयल इंटरप्रेन्योर मेमोरेण्डम प्राप्त किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!