गौरव पथ: अफसरों पर कार्यवाही होगी

बिलासपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के गौरव पथ निर्माण में गड़बड़ी करने वाले 9 अफसरों के खिलाफ कार्यवाही होगी. इसमें शामिल 3 आईएएस अफसरों पर कार्यवाही करने के लिये केन्द्र सरकार से अनुमति मांगी गई है. गौरव पथ निर्माण में गड़बड़ी करने वाले 9 अफसरों पर कार्यवाही करने के लिये अनुमोदन हेतु विभागीय मंत्री के पास भेज दिया गया है.

यह जानकारी छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव विवेक ढ़ाढ ने बुधवार को छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय में पेश अपने शपथ-पत्र में दिया है. उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर के खस्ताहाल सड़कों को लेकर पूर्व सैनिक अधिकारियों के संगठन ने उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर की है.

इस मामले में मणिशंकर पांडेय हस्तक्षेपकर्ता हैं. उच्च न्यायालय ने हस्तक्षेपकर्ता को यह अधिकार दिया है कि यदि तीन माह में प्रशासन नहीं करें तो वह स्वंय दोषियों के खिलाफ जुर्म दर्ज करवा सकता है. इस बारे में याचिकाकर्ता को भी शपथ-पत्र देने को कहा गया है.

मामले की अगली सुनवाई 23 नवंबर को होगी. उल्लेखनीय है कि महाराणा प्रताप चौक से मंगला चौक तक 8 करोड़ की लागत से गौरव पथ का निर्माण कराया गया है. निर्माण में गुणवत्ता और निर्धारित मापदंड का पालन नहीं किया गया. इसकी वजह से सड़क जगह-जगह धंस गई.

गौरव पथ निर्माण की स्वीकृति से लेकर निरीक्षण तक अधिकारियों ने लापरवाही बरती है. इसमें नगर निगम के तीन पूर्व आयुक्त, ईई, सब इंजीनियर, लेखापाल, सहायक अभियंता व ठेकेदार शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *