सराफा व्यापारियों का छत्तीसगढ़ बंद

रायपुर | संवाददाता: सराफा व्यापारियों ने एक्साइज ड्यूटी के बढ़ोतरी के खिलाफ गुरुवार को छत्तीसगढ़ बंद का आव्हान किया है. गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के सराफा व्यापारी 2 मार्च से तीन दिनों की हड़ताल पर रहें हैं. सराफा व्यापारियों के छत्तीसगढ़ बंद का छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स तथा कई अन्य संगठनों ने समर्थन किया है.

सराफा व्यापारियों का कहना है कि बजट में सोने-चांदी पर 1 फीसदी अतिरिक्त एक्साइज ड्यूटी लगाने का प्रस्ताव है जिसका विरोध किया जा रहा है. सऱाफा व्यापारियों का कहना है कि इससे सोने-चांदी महंगे हो जायेंगे तथा कारोबारियों के लिये काम करना मुश्किल हो जायेगा.


छत्तीसगढ़ सराफा एसोसिएशन ने एक्साइज ड्यूटी लगाए जाने के विरोध में पूरे राज्य में तीन दिनों तक सराफा कारोबार बंद रखने का ऐलान किया था. इसी क्रम में 2 मार्च से रायपुर सराफा बाजार से बंद की शुरूआत हुई थी. इसके बाद राज्य के अन्य प्रमुख शहरों में भी सराफा कारोबारियों ने अपना व्यवसाय पूरी तरह से बंद रखा. बंद के असर से जहां व्यापारियों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा वहीं राज्य भर में सराफा कारोबार बंद रहने से प्रतिदिन लाखों-करोड़ों रूपए का कारोबार प्रभावित हुआ.

सराफा कारोबारियों ने बताया कि केन्द्र की आम बजट में सोने और हीरे के ज्वेलरी आयटमों में एक्साइज ड्यूटी लगाया है. इससे कारोबार पर बुरा असर पडऩे के साथ ही इससे जुड़े लोगों के लिए सरकार का यह कदम नुकसानदायक है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!