चीनी बल्ब से 400 की आंखें सूजी

राजनांदगांव | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में चीनी बल्ब से 400 लोगों की आंखें सूज गई है. बीती रात छत्तीसगढ़ के रांजनांदगांव जिले के सुकुलदैहान के समीप कन्हारडबरी गांव में चल रहे सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान चीनी बल्ब फूटने से 400 ग्रामीणों की आंखें सूज गई है. इससे सबसे ज्यादा बच्चे प्रभावित हुये हैं. सुबह ग्रामीणों की आंखें सूजन के कारण नहीं खुल पा रही थी. घटना की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन ने चिकित्सकों का दल रवाना कर दिया है.

मिली जानकारी के अनुसार बारिश के कारण 6 चीनी बल्ब फूट गये. जिससे निकली गैस के कारण लोगों की आंखों में जलन होने लगा. जिसके कारण सांस्कृतिक कार्यक्रम को बीच में ही रोक दिया गया. घटना के बाद गांव में अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया.

माहभर पहले ही इससे पहले भी छत्तीसगढ़ के बालोद एवं दल्लीराजहरा में चीनी हैलोजन लाइट के कारण इरिटेशनल कंजक्टिवाइटिस की घटना हो चुकी है. उस समय कहा गया था कि चीनी लाइटों को प्रतिबंधित कर दिया जायेगा. परन्तु ऐसा हुआ नहीं.

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के बालोद जिले में चीनी हैलोजन लाइट के कारण 800 से अधिक लोगों के आंखों में सूजन, संक्रमण तथा रोशनी कम होने की शिकायतें मिली थी. इसी तरह से बिरेतरा गांव में भी 400 से ज्यादा लोगों के आंखों में यही तकलीफ देखी गई थी.

उस समय छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने चीनी हैलोजन लाइटों पर प्रतिबंध की बात कही है. मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा था, ”उस लाइट को प्रतिबंध करना होगा, जिस लाइट की वजह से ऐसा बार-बार हो रहा है. चाइनीज़ बल्ब का रिएक्शन ज्यादातर देखने में आया है तो उसके ऊपर भी कार्रवाई की जायेगी.”

चिकित्सकों ने आरंभिक तौर पर माना था कि सांस्कृतिक कार्यक्रम स्थल पर बड़ी संख्या में लगाये गये चीनी हैलोजन लाइट के कारण लोग ‘इरिटेशन कंजक्टीवाइटिस’ के शिकार हो गये.

कंजक्टीवाइटिस-
कंजक्टीवाइटिस का अर्थ होता है कंजिक्टिवा का सूजन. दरअसल, आंखों के उपर एक महीन झिल्ली होती है जो उसकी रक्षा करती है. उसे कंजिक्टिवा कहते हैं. मुख्यतः संक्रमण से इसमें सूजन आ जाती है. इसके अलावा एलर्जी से भी इसमें सूजन आ जाती है तथा आंख लाल हो जाती है. कई बार इरिटेन्ट कंजक्टीवाइटिस हो जाती है. जो किसी उत्तेजक के कारण होती है.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *