बाल अपराधी द्वारा आत्महत्या का प्रयास

दुर्ग | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के दुर्ग में एक बाल अपराधी ने आत्महत्या का प्रयास किया है. छत्तीसगढ़ के दुर्ग के बाल संप्रेक्षण गृह में रहने वाले एक नाबालिक बालक ने बाथरूम के रौशनदान में कपड़ा फंसाकर आत्महत्या का प्रयास किया है. घटना शाम के 5-6 बजे की है.

चूंकि बाथरूम में दरवाजा नहीं था इसलिये उसके साथियों ने उसे देख लिया तथा बाल संप्रेक्षण गृह के कर्मचारियों ने उसे अस्पताल पहुंचाया. बताया जा रहा है कि बच्चे को अस्पताल पहुंचाने के चार घंटे बाद पुलिस के सूचना दी गई.


पुलिस आत्महत्या करने वाले बाल अपराधी की बयान न ले सकी क्योंकि उसकी हालत ठीक नहीं थी.

मिली जानकारी के अनुसार बालक चोरी के जुर्म में बाल संप्रेक्षण गृह में बंद है तथा उसे उसके साथ बंद अन्य बाल अपराधियों ने उसके साथ मारपीट की है.

उल्लेखनीय है कि 11 जुलाई 2016 को छत्तीसगढ़ के इसी संप्रेक्षण गृह के बाल अपराधियों ने वहां पर कब्जाकर लिया था तथा पुलिस आरक्षक सहित तीन को चाकू मार दिया था. उस वारदात में बाल अपराधियों द्वारा किये गये पत्थरबाजी से पुलिस अधीक्षक अमरेश मिश्रा को भी पत्थर लग गया था.

उस घटना के बाद 51 बाल अपराधी फरार हो गये थे जिन्हें बाद में पकड़ा गया था.

संबंधित खबर-

छत्तीसगढ़: बाल अपराधियों का तांडव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!