फ्रीडम फाइटर का मानदेय बढ़ा

जगदलपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में फ्रीडम फाइटर का मानदेय बढ़ाया गया है. राज्य के फ्रीडम फाइटरों का मानदेय 15 हजार रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर 25 हजार रुपये प्रतिमाह का कर दिया गया है. इसकी घोषणा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने जगदलपुर के गणतंत्र दिवस समारोह में की. इसके अलावा आपातकाल के दौरान मीसा के तहत बंद रहने वालों का मानदेय भी 50 से 66 फीसदी बढ़ाने की घोषणा की गई है.

मुख्यमंत्री ने तेन्दूपत्ता संग्रहण में मौसमी रोजगार प्राप्त करने वाले वनवासी परिवारों के लिए पारिश्रमिक दर 1500 रूपये से बढ़ाकर 1800 रूपये प्रति मानक बोरा करने की भी घोषणा की. उन्होंने कहा कि वन क्षेत्रों में आदिवासी भाई-बहनों की आमदनी का मुख्य जरिया तेन्दूपत्ता संग्रहण का पारिश्रमिक रहा है, हमने इसे 350 रूपये प्रति मानक बोरा से बढ़ाते हुए 1500 रूपये कर दिया है. अब एक और बड़ा कदम उठाते हुए नये सीजन के लिये इसे 1800 रूपये प्रति मानक बोरा किया जायेगा. इसके अलावा छत्तीसगढञ में युवाओँ और खेलों को बढ़ावा देने छत्तीसगढ़ खेल प्राधिकरण का जल्द गठन किया जायेगा.


उन्होंने जनता के नाम अपने संदेश में कहा- राज्य में धान खरीदी व्यवस्था को लगातार मजबूत बनाने का सिलसिला जारी है. किसानों को उनके बैंक खातों में कैशलेस भुगतान सुनिश्चित करने की दिशा में छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य बन गया है. उन्होंने कहा कि राज्य के 22 लाख किसानों को क्रेडिट कार्ड जारी किये जा चुके हैं और इनमें से दस लाख किसानों को बहुत जल्द रूपे कार्ड जारी कर दिये जायेंगे.

मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा हमारी पुलिस अन्य राज्यों से अलग तरह की चुनौती, नक्सलवाद का मुकाबला भी कर रही है. विकास, सुरक्षा और विश्वास की त्रिवेणी और पुनरीक्षित पुनर्वास नीति से माओवादियों के हौसले पस्त हुये हैं और बड़ी संख्या में आत्मसमर्पण के प्रति उनका रूझान बढ़ा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!