छत्तीसगढ़ को मनरेगा में प्रथम पुरस्कार

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ के लिए यह सप्ताह केन्द्र सरकार से मिलने वाले राष्ट्रीय पुरस्कारों के सप्ताह के रूप में यादगार बन गया है. विगत एक सप्ताह में राज्य के लिए तीन-तीन राष्ट्रीय पुरस्कारों की घोषणा की गई है.

वर्ष 2012-13 के लिए कृषि कर्मण पुरस्कार की घोषणा तथा जिला मुख्यालय दुर्ग को शहरी गरीबों के लिए बुनियादी सुविधाओं के विकास में राष्ट्रीय पुरस्कार मिलने के बाद केन्द्र सरकार ने छत्तीसगढ़ को महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत वर्ष 2012-13 में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए भी राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम पुरस्कार देने की घोषणा की है.


मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इन राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए जनता को बधाई देते हुए कहा है कि नया राज्य होने के बावजूद छत्तीसगढ़ विकास के हर क्षेत्र में देशभर में अपनी सफलता का परचम लहरा रहा है, जिसका श्रेय प्रदेशवासियों की मेहनत और राज्य में विकसित एक बेहतर कार्य संस्कृति को दिया जाना चाहिए.

पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों ने यहां बताया कि छत्तीसगढ़ को वर्ष 2012-13 के लिए मनरेगा तहत प्रथम पुरस्कार कन्वर्जेन्स श्रेणी में घोषित किया गया है. कन्वर्जेन्स के अन्तर्गत मनरेगा की राशि तथा अन्य विकास विभागों की योजनाओं को मिलाकर ग्रामीणों को अधिक से अधिक संख्या में रोजगार दिलाने पर छत्तीसगढ़ को यह पुरस्कार मिलने जा रहा है. अगले महीने की दो तारीख को नई दिल्ली में मनरेगा के स्थापना दिवस पर होने वाले राष्ट्रीय मनरेगा सम्मेलन में छत्तीसगढ़ को इस पुरस्कार से नवाजा जाएगा.

मनरेगा में वर्ष 2012-13 में छत्तीसगढ़ ने कुल दो हजार 232 करोड़ रुपये की धनराशि खर्च कर ग्रामीण क्षेत्रों में श्रमिकों को 12 करोड़ 10 लाख मानव दिवस का रोजगार उपलब्ध कराया. मनरेगा की राशि तथा अन्य विकास विभागों की योजनाओं के बीच कन्वर्जेन्स कर छत्तीसगढ़ के गांवों में ऐसे रोजगार मूलक कार्य किए गए, जिनसे ग्रामीणों के जीवन स्तर में उत्साहजनक सुधार हुआ है.

ज्ञातव्य है कि इस महीने की 16 तारीख को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नई दिल्ली प्रवास के दौरान केन्द्रीय कृषि मंत्री शरद पवार ने भेजे गए अपने पत्र में उन्हें वर्ष 2012-13 में सर्वाधिक चावल उत्पादन पर कृषि कर्मण पुरस्कार के लिए छत्तीसगढ़ का चयन किए जाने की जानकारी दी थी.

इसके अलावा राज्य के जिला मुख्यालय दुर्ग को केन्द्रीय आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय की ओर से वर्ष 2012-13 के लिए सर्वश्रेष्ठ शहर के रूप में कल नई दिल्ली में आयोजित समारोह में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के हाथों पुरस्कृत किया गया. दुर्ग को यह पुरस्कार शहरी गरीबों की बुनियादी सुविधाओं से संबंधित योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए प्रदान किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!