नसबंदी मामले की न्यायिक जांच होगी

बिलासपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ सरकार नसबंदी कांड की न्यायिक जांच करायेगी. बिलासपुर में नसबंदी के बाद गंभीर मरीजों को देखने आये छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने संवाददाताओं से कहा “जांच में इन घटनाओं के लिए जो भी दोषी पाया जाएगा, चाहे वह औषधि निर्माता हो, औषधि वितरक हो या डॉक्टर, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. किसी भी दोषी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा.”

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह विगत दो दिनों में दूसरी बार रायपुर से दोपहर हेलीकाप्टर द्वारा बिलासपुर पहुंचे. उन्होंने वहां अपोलो अस्पताल और छत्तीसगढ़ आयुर्विज्ञान संस्थान में उन महिला मरीजों से मुलाकात की, जिन्हें जिले के ग्राम पेण्डारी और गौरेला के नसबंदी शिविरों में बीमार होने के बाद जिला प्रशासन द्वारा उच्चस्तरीय इलाज के लिए अपोलो में भर्ती कराया गया है. मुख्यमंत्री ने इन महिलाओं के जल्द स्वास्थ्य लाभ की कामना की. उन्होंने महिलाओं के परिजनों से भी मुलाकात की. डॉ. सिंह ने इन महिलाओं का मनोबल बढ़ाते हुए उन्हें बेहतर से बेहतर इलाज करवाने का विश्वास दिलाया.

अपोलो अस्पताल हैदराबाद से आए विशेषज्ञ डॉक्टरों का सोलह सदस्यीय दल भी वहां मौजूद था. मुख्यमंत्री ने उनसे महिलाओं के स्वास्थ्य और इलाज की व्यवस्था के संबंध में विचार-विमर्श किया. प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अमर अग्रवाल, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री अजय चन्द्राकर, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन कुमार सिंह, बिलासपुर संभाग के कमिश्नर सोनमणि बोरा, कलेक्टर बिलासपुर सिद्धार्थ कोमल परदेशी, मुख्यमंत्री के संयुक्त सचिव रजत कुमार और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी वहां मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *