छात्रायें सुरक्षित नहीं छात्रावास में

कांकेर | अंकुर तिवारी: छत्तीसगढ़ के बस्तर में छात्रायें छात्रावास में भी सुरक्षित नहीं हैं. आदिवासी बहुल जिलें में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा संचालित प्रयास विद्यालय के बालिका छात्रावास में बुधवार की रात तीन अज्ञात युवक घुस गये. छात्राओं के चीखने-चिल्लाने के बाद तीनों युवक मौके से भाग गए. घटना के वक्त हॉस्टल में छात्राएं सो रहीं थी उसी दौरान कमरें में तीन अज्ञात युवक घुस आए और छात्राओं के साथ छेड़खानी करने लगे. छात्राओं ने जब शोर मचाया तब तीनों युवक भाग गए. छात्रावास की अधीक्षिका ने कोतवाली थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है. पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

घटना के बाद से बच्चियां डरी सहमी है, तीन दिन बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से नाराज छात्र-छात्राओं ने राष्ट्रीय राजमार्ग 30 पर चक्काजाम कर दिया. आक्रोशित बच्चों ने जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.


छात्राओं ने आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त केपी ध्रुव पर चरित्र पर आक्षेप करने का आरोप लगाया है. छात्राओं के चरित्र पर उंगली उठाते हुए सहायक आयुक्त ने छात्राओं पर बिना जांच किए यह आरोप जड़ दिया कि रात के समय छात्राओं ने ही लड़कों को बुलाया होगा. इस आरोप को लेकर सहायक आयुक्त के खिलाफ छात्राओं में खासा आक्रोश देखा जा रहा है.

छात्राओं ने रुंधे गले से कहा कि, “हॉस्टल में हमारी सुरक्षा के लिए कोई इंतजाम नहीं किया गया है. आधी रात में तीन लड़कों के घुसने की जानकारी हॉस्टल की अधीक्षिका को दी गई तो उन्होंने मामले को गंभीरता से नहीं लिया. हम सभी लड़कियां अकेली सोती है, हमारे साथ रात के वक्त अधीक्षिका को रहना चाहिए था. लेकिन वे अपने घर पर थी. सुबह होते ही जब हमने सहायक आयुक्त को बताया तो उन्होंने हम पर आरोप लगाया कि किसी लड़के से हमारे संबंध होने के कारण लड़के हॉस्टल में घुसे हैं.”

||बच्चियों ने कहा कि, “सहायक आयुक्त को कोई हक नहीं है कि वे हमारे चरित्र पर सवाल उठायें. एस.ई. ने कहा कि इतने साल से ल़ड़कियों को हम जानते है. हम पूछना चाहते है कि कोई अधिकारी एक साल में कैसे लड़कियों के चरित्र पर सवाल उठा सकता है.”||

एक छात्रा ने बताया कि,”लड़के हमारे साथ गलत हरकत कर रहे थे, हमने लड़कों को पकड़ने की कोशिश की तो वे भाग गये. हमने सहायक आयुक्त से कहा कि हम सीधा कलेक्टर से मिलकर बात करेंगे तो उन्होंने मुझे कहा कि आप लोगों का किसी लड़के से संबंध है.”

हॉस्टल में नहीं है सुरक्षा इंतजाम-
प्रयास आवासीय विद्यालय के छात्रावास में जांच करने के लिए पहुंची कोतवाली थाना की एसआई कमला पुसाम कहती हैं, “हॉस्टल में सुरक्षा के लिए सीसी टीवी कैमरे नहीं लगाये गये है. दो साल से छात्रावास संचालित हो रहा है, बावजूद इसके दीवारों पर एंगल और कटिले तार नहीं लगाये गये है. संवेदनशील क्षेत्र होने के बाद भी छात्राओं की सुरक्षा में लापरवाही बरती गई.”

लापरवाह कर्मचारियों को हटाया-
एनएच पर छात्र-छात्राओं द्वारा चक्काजाम किए जाने की सूचना पर मौके पर पहुंचे अपर कलेक्टर अरविंद शर्मा ने बताया कि, “छात्र-छात्राओं में काफी आक्रोश था, अधीक्षक बीरबल कुलदीप और अधीक्षिका प्रमिला कुलदीप के व्यवहार से बच्चे नाखुश थे तो उन्हें तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है. इसके साथ ही हॉस्टल के भृत्य को हटाने की कार्रवाई की गई है.” सहायक आयुक्त पर कार्रवाई करने के सवाल पर अरविंद शर्मा ने कहा कि,”बच्चों की शिकायतों पर जांच के बाद सभी दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी. सहायक आयुक्त पर लगे आरोपों की जांच की जाएगी और दोषी पाए जाने पर कार्रवाई होगी. एक सप्ताह में जांच रिपोर्ट आ जाएगी.”

जिला प्रशासन का फूंका पुतला-
छात्रावास में अज्ञात युवकों के घुसने की घटना से आक्रोशित जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं ने जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और प्रशासन का पुतला फूंक दिया. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!