कोरबा में महिला की नृशंस हत्या

कोरबा | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के कोरबा में गुरुवार सुबह बीएसएनएल कर्मी महिला भृत्य की लाश उसके घर में मिली. कोरबा के बीएसएसएन में भृत्य के पद पर पदस्थ 59 वर्षीया सावित्री यादव की हत्या किसने की है इसका कोई सुराग अभी तक पुलिस को नहीं मिला है. जांच के लिये पहुंचे फॉरेंसिक एक्सपर्ट को भी हत्या के उपयोग में लाये हथियार वहां नहीं मिले हैं.

गुरुवार की सुबह जब सावित्रई यादव के नाती रतनेश यादव उनके घर पहुंचा तब उसे रक्तरंजित लाश खाट के नीचे मिली. बताया जा रहा है कि सावित्री की बेटी तथा दामाद राताखा में रहते हैं तथा वहां से दूध का कारोबार करते हैं. सावित्री अपने बेटी-दामाद से दूध लेकर घर-घर बेचा करती थी. गुरुवार की सुबह जब सावित्री दूध लेने नहीं पहुंची तब उसका नाती खबर लेने पहुंचा था.


बाहर का दरवाजा बंद होने के कारण उसने पीछे के दरवाजे से घर में प्रवेश किया. वहां पर नाती को नानी की लाश पड़ी मिली. नाती ने घर का मुख्य दरवाजा खोलकर पड़ोसियों तथा परिजनों को सूचना दी.

मृतक सावित्री का बड़ा बेटा गणेश यादव भी राताखार में रहता है. सावित्री अपने छोटे बेटे रमेश यादव तथा बहू के साथ दर्री रोड पर रहती थी. करीब 10 दिन पहले रमेश अपने पत्नी के साथ अपने ससुराल बिलासपुर गया हुआ है. घटना के समय सावित्री घऱ में अकेली थी.

घर का सामान यथावत रखा हुआ है. इसलिये पुलिस इस नतीजे पर पहुंची है कि वारदात के पीछे लूटपाट वजह नहीं हो सकती है. कोतवाली पुलिस का कहना है कि सावित्री के सिर पर 5-6 घातक वार किये गये हैं. घटना तड़के होने का अंदेशा है.

सावित्री के रिटायरमेंट में अभी कुछ ही समय बचा हुआ है. फिलहाल शक की सुई परिजनों के ईर्दगिर्द घूम रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!