जन्म के पहले भी, जन्म के बाद भी

कोरबा | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के कोरबा में महतारी एक्सप्रेस ने 10 माह में ही 13 हजार हितग्राहियों को सेवा प्रदान की है. इस प्रकार से कहा जा सकता है कि महतारी एक्सप्रेस ने जन्म के पहले भी तथा जनम् के बाद भी अपनी सेवा दी है. गौरतलब है कि इसका उपयोग प्रसव के लिये अस्पताल ले जाने तथा एक वर्ष तक के बच्चे को अस्पताल लाने ले जाने के लिये मुफ्त में प्रदान किया जाता है.

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने के साथ ही सुरक्षित प्रसव के लिये अनेक पहल किए गए हैं. इसी कड़ी में गर्भवती महिलाओं को आपात स्थिति में सुरक्षित प्रसव के लिए शुरू की गई महतारी एक्सप्रेस 102 की सेवायें गरीब और जरूरतमंदों के लिए यादगार साबित हो रही है. फोन करने के चंद मिनटों बाद महतारी एक्सप्रेस घर तक पहुंच रही है. गर्भवती महिलाओं समेत एक वर्ष तक के शिशुओं को अस्पताल तक लाने और उपचार पश्चात घर तक पहुंचाने में सरकार की इस निःशुल्क सेवा की भूमिका बढ़ गई है.


छत्तीसगढ़ की उद्योग नगरी कोरबा जिले में महतारी एक्सप्रेस 102 की सेवा संजीवनी 108 की तरह लोकप्रिय हो रही है. महतारी एक्सप्रेस के जिला आपरेशनल हेड राघवेंद्र वर्मा ने बताया है कि “सबसे अधिक ग्रामीण इलाकों में महतारी एक्सप्रेस 102 की सेवाएं पहुंच रही है. जरूरतमंद गर्भवती महिलाओं के प्रसव से ठीक पहले सुरक्षित ढंग से नजदीक के स्वास्थ्य केंद्र में पहुंचाया जाता है.”

उन्होंने आगे बताया कि “टोल फ्री नंबर 102 पर फोन लगाने के साथ ही फोन करने वालों से संपूर्ण पता पूछा जाता है. कुछ मिनटों के अन्तराल में महतारी एक्सप्रेस निर्धारित स्थान पर पहुंच जाती है. वाहन में एक महिला स्वास्थ्य कर्मचारी भी होती है जो आपात स्थिति में गर्भवती महिला का आवश्यक सेवा प्रदान करती है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!