छत्तीसगढ़: मुक्तिबोध नाट्य समारोह

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में इप्टा की ओर से मुक्तिबोध राष्ट्रीय नाट्य समारोह का आयोजन 20 से 25 नवंबर तक किया जाएगा. आयोजन का यह 19वां वर्ष है और इस बार यह समारोह संस्कृति विभाग स्थित मुक्ताकाशी मंच पर होगा. समारोह का उद्घाटन सुप्रसिद्ध रंगकर्मी तथा इप्टा के महासचिव राकेश करेंगे.

इप्टा-रायपुर के महासचिव अरुण काठोटे ने बताया कि शुक्रवार शाम सात बजे मुंशी प्रेमचंद की पांच कहानियों के मंचन के साथ नाट्य समारोह की शुरुआत होगी. समारोह में रामधारी सिंह दिनकर, जयशंकर प्रसाद, सूर्यकांत त्रिपाठी निराला, मंटो जैसे लेखकों की रचना पर आधारित नाट्य रचनाओं की प्रस्तुतियां की जाएंगी. इसमें महेश भट्ट निर्देशित ‘सारांश’ की प्रस्तुति भी शामिल है.


नाट्य समारोह में प्रतिवर्ष दिया जाने वाला कुमुद देवरस स्मृति सम्मान इस बार रायगढ़ की रंगकर्मी ऊषा आठले को दिया जाएगा. रायगढ़ इप्टा से सतत और सक्रिय रूप से जुड़ी उषा आठले ने अपने लेखन, संगठन क्षमता और रंगकर्म के प्रति अपनी गहरी प्रतिबद्धता के चलते रायगढ़ जैसी जगह में रंगकर्म की गतिविधि की निरंतरता को बनाए रखा है.

आठले ने छत्तीसगढ़ इप्टा की अध्यक्ष और राष्ट्रीय सचिव मंडल की सदस्य के रूप में इप्टा की गतिविधियों को नई वैचारिक ऊर्जा दी है.

गौरतलब है कि अब तक यह सम्मान त्रिपुरारी शर्मा-नई दिल्ली, उषा गांगुली-कोलकाता, रानी बलबीर कौर-चंड़ीगढ़, नादिरा बब्बर-मुंबई तथा पूनम तिवारी-छत्तीसगढ़ को प्रदान किया गया है.

समारोह में नाट्य मंचनों के साथ वैचारिक विमर्श के तहत कविता का रंगमंच विषय पर रविवार की सुबह 11 बजे संस्कृति विभाग के प्रेक्षागृह में एक गोष्ठी का आयोजन किया गया है. इसमें मुख्य अतिथि राकेश के अलावा व्योमेश शुक्ल तथा दानिश इकबाल अपने विचार रखेंगे.

19वां मुक्तिबोध राष्ट्रीय नाट्य समारोह प्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार तथा साहित्यकार बबन प्रसाद मिश्र एवं इप्टा के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव जितेंद्र रघुवंशी की स्मृति को समर्पित किया जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!