नक्सल इलाकों में सड़क-मोबाइल टावर

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के नस्सल इलाकों में सड़के बनाई जायेंगे तथा मोबाइल के टावर लगेंगे. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में यूनिफाइड कमांड की बैठक बुधवार मंत्रालय में आयोजित की गई. नक्सल समस्या के उन्मूलन के लिए राज्य के संबंधित जिलों में विकास कार्यों और जनकल्याणकारी योजनाओं को गति देने सहित जन-जीवन की सुरक्षा और कानून व्यवस्था से जुड़े विभिन्न विषयों पर बैठक में विस्तृत विचार-विमर्श किया गया. सड़कों और पुल-पुलियों के निर्माण, मोबाइल टावरों की स्थापना और विभिन्न प्रकार की अधोसंरचनाओं के विकास को लेकर भी बैठक में विस्तार से चर्चा की गई. प्रदेश के गृह मंत्री रामसेवक पैकरा सहित राज्य और केन्द्र सरकार के सभी संबंधित वरिष्ठ अधिकारी बैठक में उपस्थित थे.

बैठक में बताया गया कि नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में टेलीफोन कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए प्रथम चरण में भारत संचार निगम लिमिटेड द्वारा 146 मोबाईल टॉवर लगाने का लक्ष्य है. चालू वित्तीय वर्ष 2014-15 में मार्च तक 80 टॉवर लग जाएंगे और उनमें से 40 टॉवर चालू हो जाएंगे. जून 2015 तक 146 में से 120 टॉवर लगा दिए जाएंगे. शेष 26 टॉवर इस वर्ष अगस्त माह तक शुरू हो जाएंगे.

दूसरे चरण में 100 टॉवर लगाने का लक्ष्य है. इनमें से 76 का सर्वे पूर्ण हो गया है. बीएसएनएल को मोबाईल टॉवर के लिए अतिरिक्त बैटरी रखने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि टॉवर की बैटरी डाऊन होने पर तत्काल बदला जा सके. इसके अलावा बीएसएनएल को नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के लिए रिजर्व में भी बैटरी रखने के निर्देश दिए गए हैं. बीएसएनएल टॉवर के रख-रखाव के लिए स्थानीय युवाओं और जवानों को प्रशिक्षण देने के निर्देश बीएसएनएल को दिए गए हैं.

दल्लीराजहरा-रावघाट-जगदलपुर रेल परियोजना के निर्माण कार्य में सुरक्षा के लिए अतिरिक्त फोर्स लगायी जाएगी. सड़कों के निर्माण को समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए गए हैं. केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल को नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सड़क निर्माण कार्यो में सुरक्षा प्रदान करने के लिए अलग से बल उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *