छत्तीसगढ़: नक्सली सिखाते हैं डॉक्टरी

दंतेवाड़ा | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के बस्तर के नक्सली अपने लड़ाकों को विधिवत मेडिकल का कोर्स करवाते हैं. इसका खुलासा हाल ही में मारी गई नक्सली रामवती उर्फ रामे के मारे जाने बाद हुआ है. पुलिस अधीक्षक कमललोचन ने बताया कि मारी गई नक्सली उनके दरभा डिवीजन की मेडिकल इंचार्ज थी.

नक्सलियों से बरामद सामग्री में मेडिकल से संबंधित कई हस्तलिखित नोट्स मिले हैं. जिनके माध्यम से शरीर की बनावट, बीमारियां, चोट, दस्त, मलेरिया तथा हड्डी के टूटने पर क्या किया जाये उसकी जानकारी दी गई है.

इन नोट्स में बकायदा बीमारियों के लक्षण तथा उनके निदान के लिये दी जाने वाली दवाईयों की जिक्र है. यहां तक कि दवाईयों के साइड इफेक्ट के बारें में भी जानकारी दी गई है.

घायलों की प्राथमिक चिकित्सा कैसे की जाये तथा कौन सा बोतल कब चढ़ाया जाये इसकी भी जानकारी दी गई है. ब्लीडिंग को कैसे रोका जाता है उसके बारें में भी विस्तार से बताया गया है.

एसएसपी नक्सल गोरखनाथ बघेल का कहना है कि एक रफीक नाम का एलोपैथिक डॉक्टर उन्हें यह ट्रेनिंग देता है.

इसके अलावा नक्सलियों के सामान में कई तरह की दवाईयां तथा उपकरण मिले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *