pmsby: छत्तीसगढ़ देश में प्रथम

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना लागू करने में सबसे अव्वल है. प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत जनसंख्या कव्हरेज के आधार पर छत्तीसगढ़ ने सम्पूर्ण भारत में प्रथम स्थान हासिल कर लिया है. बैंकर्स कमेटी के अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत जनसंख्या कव्हरेज के आधार पर छत्तीसगढ़ ने सम्पूर्ण भारत में प्रथम स्थान हासिल कर लिया है. इस योजना के तहत राज्य के 47 लाख 12 हजार आवेदकों का पंजीयन किया जा चुका है. यह दुर्घटना बीमा योजना बीमा धारकों को सिर्फ 12 रूपए के वार्षिक प्रीमियम में 2 लाख रूपए का बीमा कवच प्रदान करती है.

इसी कड़ी में मात्र 330 रूपए के वार्षिक प्रीमियम पर आधारित प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना में छत्तीसगढ़ देश के प्रथम छह राज्यों में शामिल हो चुका है. इस योजना में अब तक लगभग 9 लाख 71 हजार आवेदकों का पंजीयन किया जा चुका है. इस योजना में भी दो लाख रूपए का बीमा कवच आवेदकों को प्राप्त होता है. राज्य इस योजना में भारत में छठवें स्थान पर है.

असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों, कामगारों और पेंशन विहीन लोगों के लिए प्रधानमंत्री द्वारा घोषित अटल पेंशन योजना में छत्तीसगढ़ के 31 हजार से अधिक नागरिक शामिल हो चुके हैं.

राज्य स्तरीय बैंकर्स कमेटी के अधिकारियों ने बुधवार यहां बताया कि इन योजनाओं के साथ-साथ प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना को भी छत्तीसगढ़ में उत्साहजनक सफलता मिली है. राज्य के राष्ट्रीयकृत और वाणिज्यिक बैंकों ने सिर्फ नौ माह के भीतर 2 लाख 37 हजार छोटे कारोबारियों को 1 हजार 367 करोड़ 47 लाख रूपए का ऋण दिलाकर एक वर्ष से भी कम समय में 105 प्रतिशत उपलब्धि हासिल कर ली है.

बैंकर्स कमेटी के अनुसार छोटे कारोबारियों को व्यापार-व्यवसाय में तरक्की का अवसर देने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा घोषित मुद्रा योजना को छत्तीसगढ़ में अपने शुभारंभ के एक वर्ष से भी कम समय में लक्ष्य से अधिक सफलता मिली है. विभिन्न बैंकों द्वारा 25 मई तक की स्थिति में इस योजना में राज्य के 2 लाख 37 हजार आवेदकों को 1 हजार 367 करोड़ 47 लाख रूपए का ऋण दिया जा चुका है, जबकि लक्ष्य 1308 करोड़ रूपए का था. इस योजना में राज्य की अब तक की उपलब्धि 105 प्रतिशत है. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पिछले वर्ष 25 सितम्बर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के अवसर पर राजधानी रायपुर में इस योजना का शुभारंभ किया था.

अधिकारियों ने यह भी बताया कि अगस्त 2014 से प्रारंभ प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत छत्तीसगढ़ में इस महीने की 10 तारीख तक लगभग 57 लाख परिवारों के 98 लाख 92 हजार से अधिक सदस्यों ने विभिन्न बैंकों में अपने खाते खुलवा लिए हैं. यह छत्तीसगढ़ राज्य में वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार कुल परिवारों का लगभग 99.90 प्रतिशत है. इनमें से करीब 41 लाख 44 हजार बैंक खाते जीरो बैलेंस में खोले गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *