कैदी की मौत की सूचना परिजनों को 4 दिन बाद

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के मेकाहारा में कथित नक्सली कैदी की मौत के चार दिनों बाद परिजनों को सूचना दी गई है. मृतक कैदी सदाराम दर्रो का पिछले 15 दिनों से मेकाहारा में इलाज चल रहा था जिसके दौरान चार दिनों पहले उसकी मौत हो गई. मृतक कैदी के परिजनों का आरोप है कि उन्हें बुधवार को सूचना दी गई. मृतक सदाराम दर्रो के परिवारिक मित्र का कहना है कि उसे 14 जुलाई को कांकेर के दुर्ग कोंदल में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. उसके बाद कैदी को केन्द्रीय जेल रायपुर में लाया गया था. परिजनों का आरोप है कि उन्हें इसकी सूचना नहीं दी गई थी.

गौरतलब है कि जिला पुलिस बल थाना दुर्गूकोंदल एवं सीमा सुरक्षाबल 72वीं वाहिनी ने गुमड़ीडीह की संयुक्त सर्चिग के दौरान सराधूघोमरे में तीन पुराने वारंटी नक्सलियों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई थी. अनुविभागीय अधिकारी पुलिस तारकेश्वर पटेल ने उस समय बताया था कि उक्त तीनों नक्सलियों की तलाश विगत 2004 की घटनाओं से थी. गिरफ्तार किये गये नक्सलियों में गंगूराम नरेटी पिता छेरकू 40 वर्ष निवासी ग्राम सराधूघोमरे तथा सदाराम दर्रो पिता शंभूराम 38 वर्ष सराधूघोमरे तथा गोलराम नरेटी उर्फ सोमसिंग पिता धनऊराम 35 वर्ष साकिन हूलघाट शामिल हैं. तीनों को 25-27 आर्म्स एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया था.

इस घटना के बाद केंद्रीय जेल प्रशासन सवालों के घेरे में आ गया है कि जब कैदी की तबियत इतनी खराब हुई कि उसे अस्पताल में भर्ती करने की नौबत आ गई तब उसके घरवालों को सूचना क्यों नहीं दी गई. साथ ही उसकी मौत के तुरंत बाद परिजनों को जानकारी क्यों नहीं दी गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *