फर्जी मर्चेंट नेवी परीक्षक गिरफ्तार

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में मर्चेंट नेवी की फर्जी परीक्षा का भंडाफोड़ हुआ है. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में बेरोजगारों से ठगी करने के लिये फर्जी मर्चेंट नेवी की परीक्षा शनिवार को आयोजित की जा रही थी लेकिन परीक्षार्थियों की सजगता से इस रैकेट का भंडाभोड़ हो गया. पुलिस ने इस सिलसिले में 9 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. सभी फर्जी परीक्षक नोएडा तथा देहरादून से आये हैं.

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के आरआईटी रायपुर तथा एमएम कॉलेज में शनिवार को दिगर राज्यों से आये 9 ठगों द्वारा राज्य के करीब 2 हजार छात्रों से मर्चेंट नेवी में रेंडम भर्ती के नाम पर परीक्षा ली जा रही थी.

जब छात्र परीक्षा देने पहुंचे तो उन्हें मोबाइल सहित ही परीक्षा हाल के अंदर जाने दिया गया. छात्रों को सादे कागज में ओएमआर छपा हुआ आंसरशीट दिया गया था. जिससे छात्रों को शक हुआ तो उन्होंने हंगामा खड़ा कर दिया. जब पुलिस पहुंची तथा मर्चेंट नेवी के अधिकारियों से बात की तो इस फर्जी परीक्षा का भंडाफोड़ हुआ.

फर्जी परीक्षकों ने प्रत्येक छात्र को दो-दो हजार रुपये परीक्षा फीस देने की बात की थी. इस फर्जी परीक्षा में रायपुर, बिलासपुर, रायगढ़, सरगुजा तथा बस्तर के छात्रों को फोन करके बुलाया गया था. बताया जा रहा है कि फर्जी परीक्षकों ने छात्रों का फोन नंबर कोचिंग सेंटर, स्कूल तथा कॉलेज से प्राप्त किया था.

पुलिस के अनुसार गिरफ़्तार किये गए लोग दिल्ली-एनसीआर में करियर गाइडेंस और कोचिंग सेंटर चलाने वाली निजी कंपनियों से जुड़े हुये हैं. मंदिर हसौद इलाके के थाना प्रभारी एसएन अख़्तर बताते हैं, “आरआईटी रायपुर और एमएम कॉलेज में यह परीक्षा आयोजित की गई थी और जब पुलिस पहुंची तो इस गिरोह का भंडाफोड़ हुआ, जो बेरोजगारों से परीक्षा के नाम पर पैसों की वसूली कर उन्हें ठगने का काम कर रहा था. पुलिस ने मौके से कई रसीद, ओएमआर सीट जैसे दस्तावेज़ बरामद किये हैं.”

आरंभिक जांच के बाद पुलिस का कहना है कि देश भर में इस तरह का गिरोह सक्रिय है, जो बेरोजगारों से मर्चेंट नेवी की परीक्षा के नाम पर पैसे वसूलता है, बकायदा परीक्षा भी लेता है और फिर भर्ती के नाम पर एक-एक बेरोजगार से रिश्वत के तौर पर लाखों रुपये वसूल कर फरार हो जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *