एसपी ने खुद खोली पुलिस की पोल

रतनपुर | उस्मान कुरैशी: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में यहां के एसपी ने स्वंय पुलिस की पोल खोल दी है. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिला पुलिस अधीक्षक बद्री नारायन मीणा ने गुरूवार व शुक्रवार की रात सायकल से नगर व मंदिरों की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया. जिसमें यहां के मंदिरों और ट्रैफिक व्यवस्था के सुरक्षा व्यवस्था की पोल खोल दी. खंडोबा बाईपास पर एक सब इंस्पेक्टर को भारी वाहनों को रोककर एंट्री वसूलते भी पाया. जिसकी वजह सड़क पर जाम की स्थिति बनी हुई थी.

गुरूवार को नवरात्र की देर रात साढ़े दस बजे के लगभग पुलिस अधीक्षक इनोवा गाड़ी से महामाया मंदिर पहुंचे. यहां से सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते वे अकेले महामाया चौक पैदल पहुंचें. यहां वे अपनी इनोवा गाड़ी में रखी रेंजर सायकल निकलवाई और अपने गार्डो को जाने निर्देशित किया.


सायकल चलाते पुलिस अधीक्षक मीणा बिलासपुर की ओर रवाना हुए जहां शनिचवरी बाजार के पास यातायात जाम थी किसी तरह वे आगे खंडोबा बाईपास में यहां सुरक्षा के लिए तैनात सब इंस्पेक्टर भारी वाहनों के कागजों की जांच कर एंट्री वसूली में मस्त था. इसकी वजह से ही जाम की स्थिति बनी हुई थी. सड़क पर ड्रायवरों की भीड़ लगी हुई थी. एसपी ने पूछा क्या चेकिंग हो रही है. इसके बाद उसे जमकर फटकार लगाई. सायकल में लाल टीशर्ट और लोवर पहनकर पहुंचे एसपी को पहले तो वो पहचान नहीं पाया . फिर जानकारी होने पर वह सकते में आ गया.

पुलिस अधीक्षक मीणा ने उसे वहां से भगाकर खुद यातायात बहाल करने में जुट गए. ढ़ाई घंटे की कड़ी मेहनत के बाद यातायात सामान्य हुआ. इस दौरान एसपी की सुरक्षा के लिए तैनात गार्ड भी सायकल की जुगाड़ कर मौके पर पहुंचे. उन्होने भी यातायात बहाल करने में उनकी मदद की. ढ़ाई घंटे चली एसपी की इस कवायद का रतनपुर थाना प्रभारी और उनके अमले को भनक तक नहीं लगी.

इसी से यहां के पुलिसिंग का अंदाजा लगाया जा सकता है. इस दौरान बिलासपुर से ट्रैफिक पुलिस के कुछ जवान जरूर पहुंचे. एसपी मीणा के रतनपुर से सायकल से ही बिलासपुर की ओर रवाना हुए. इसके बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ठाकुर भी यहां पहुंचे. उल्लेखनीय है कि इसी बाईपास में आईजी जाम में फंस गए थे बाहर आकर उन्होने दो ट्रैफिक जवानों को एंट्री वसूलते पकड़ा था. इसके बाद एक और घटना में एंट्री नहीं देने पर एक ट्रैफिक के सिपाही ने ट्रक चालक का सिर फोड़ दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!