छत्तीसगढ़: सरगुजा में हाथी-भालू का आतंक

अंबिकापुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ का सरगुजा इन दिनों हाथियों के कहर तथा भालूओं के आतंक के बीच जी रहा है. यहां के गांवों में हाथियों का दल आकर घरों और फसलों को बर्बाद कर रहा है. कुछ दिन पहले ही हाथी के पैरों तले कई कुचले जा चुके हैं. दूसरी ओर भालू भी गांव वालों पर हमलें कर रहें हैं. ताजा घटनाक्रम में भटगांव के सोननगरा तथा पंडरीडांड़ में हाथियों का कहर जारी है. रविवार रात हाथियों के दो दलों ने दोनों गांवों में दो घरों सहित गन्ने की फसल को काफी नुकसान पहुंचाया. दोनों गांव में गन्ने की करीब तीन चौथाई फसल हाथियों के कारण बर्बाद हो गई है.

मिली जानकारी के अनुसार दल से अलग एक हाथी ने भैयालाल रजवार के घर को ढहाकर वहां रखे सामान सहित राशन बर्बाद कर दिया. इलाके के आधा दर्जन किसानों की करीब तीन एकड़ में लगी गन्ने की फसल हाथियों ने पूरी तरह चौपट कर दी है. वहीं पंडरीडांड़ इलाके में दूसरे दल ने राधेलाल पंडो के घर को क्षतिग्रस्त कर दिया. इस इलाके में भी किसानों की करीब एक एकड़ में गन्ने की फसल हाथियों ने नष्ट कर दी है.


दूसरी ओर सोमवार को प्रेमनगर थाना क्षेत्र के शिवनगर में तीन भालूओं ने घर के आंगन में घुसकर एक महिला को घायल कर दिया है. महिला द्वारा शोर मचाये जाने के बाद तीनों भालू भाग गये. महिला को उपचार के लिये अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है. भालूओं ने 40 वर्षीय मुन्नीबाई के चेहरे तथा शरीर को नोंच लिया है.

इससे पहले प्रेमनगर थाना क्षेत्र में ही जंगल गये एक 60 वर्षीय वृद्ध रामगोपाल बिझिंया की भालू के हमले में मौत हो गई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!