छत्तीसगढ़ विधानसभा में होंगे 200 विधायक

रायपुर | संवाददाता: अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो छत्तीसगढ़ में विधानसभा सीटों की संख्या 200 तक हो सकती है. छत्तीसगढ़ में विधानसभा की सीटों का निर्धारण 1971 की जनसंख्या के आधार पर किया गया था. तब राज्य की जनसंख्या 1,16,73,495 थी. आज की तारीख में यह जनसंख्या 2,55,45,198 से भी अधिक हो गई है.

माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में जब कभी भी अगला परिसीमन होगा, विधायकों की संख्या लगभग 200 तक पहुंच सकती है. यह सारी अटकलें नये विधानसभा भवन के कारण पैदा हुई हैं.


असल में छत्तीसगढ़ सरकार ने नये विधानसभा भवन के निर्माण की प्रक्रिया शुरु की है. मंत्रालय और सचिवालय भवन के पास बनने वाले इस विधानसभा भवन में 200 विधायकों के बैठने की व्यवस्था करने के निर्देश हैं. इसके लिये विज्ञापन की प्रक्रिया शुरु हो गई है. डीपीआर यानी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट के लिये विज्ञापन जारी किया गया है और मार्च के पहले सप्ताह तक रिपोर्ट बनाने के लिये प्रस्ताव मंगवाये गये हैं.

50 एकड़ में बनाये जाने वाले 200 सदस्यों वाले प्रस्तावित विधानसभा भवन पर लगभग 400 करोड़ रुपये खर्च होंगे. इस भवन में मुख्यमंत्री के लिए एक बड़ा कक्ष, उनके स्टॉफ के लिए कमरे और रिटायरिंग रूम और मीटिंग हाल का निर्माण प्रस्तावित है. माना जा रहा है कि मंत्रियों की संख्या भी दोगुनी यानी 30 होने की संभावना है. यही कारण है कि 30 बड़े कक्ष एवं उनके स्टॉफ के लिए लगे हुए कमरे बनाए जाएंगे.

सदन के उपाध्यक्ष के लिए भी 2 कक्ष, रिटायरिंग रूम, विजिटर रूम और मीटिंग हाल का निर्माण किया जायेगा. विधायक दल के नेता एवं प्रतिपक्ष के सदस्यों के लिए लॉबी में दो बड़े कक्ष का बनाये जायेंगे. इसके अलावा महिला विधायकों के लिए अलग कक्ष एवं रिटायरिंग रूम बनाया जायेगा.

इधर परिसीमन आयोग की मानें तो राज्यों में विधानसभा सीटों का जो निर्धारण किया गया है, उसमें 2026 तक कोई बदलाव नहीं होगा. यानी सीटों की संख्या 2026 के बाद ही बढ़ सकेगी. लेकिन राजनीति में कुछ भी संभव है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!