सदन में श्रद्धांजलि

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र के प्रथम दिन सोमवार को सदन में तीन दिवंगत वरिष्ठ नेताओं को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की गयी. सदन की कार्रवाई शुरू होते ही विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने तीनों नेताओं के विगत दिनों हुए निधन का उल्लेख करते हुए उनका जीवन परिचय प्रस्तुत किया.

मुख्यमंत्री और सदन के नेता रमन सिंह ने स्वर्गीय गोपीनाथ मुण्डे को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि श्री मुण्डे ने एक गरीब परिवार में जन्म लेकर अपने व्यक्तित्व और कृतित्व से न सिर्फ महाराष्ट्र में बल्कि राष्ट्रीय स्तर पर भी पहचान बनायी. मुख्यमंत्री ने स्वर्गीय श्री मुण्डे को व्यापक जनाधार वाले निश्छल और इमानदार छवि वाले नेता के रूप में याद किया और कहा कि उनकी अंतिम यात्रा में हजारों-लाखों लोगों को मैने उनकी याद में बिलखते देखा. किसी दिवंगत नेता के लिए इतना बड़ा जन सैलाब मैने अपने जीवन में पहली बार देखा.


छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने राजनांदगांव के पूर्व सांसद और अविभाजित मध्यप्रदेश की विधानसभा में डोंगरगढ़ से विधायक रह चुके स्वर्गीय श्री मदन तिवारी के व्यक्तित्व और कृतित्व को भी याद किया. रमन सिंह ने कहा कि स्वर्गीय श्री तिवारी समाजवादी विचारों के एक ऐसे जनप्रतिनिधि थे, जो सांसद और विधायक होकर भी वेतन नहीं लेते थे, अपने शहर में रिक्शे से ही आना-जाना करते थे. मजदूरों की बस्ती में एक साधारण छोटे मकान में रहते थे और उसी बस्ती में उन्होंने अंतिम सांस ली.

छत्तीसगढ़ के मुथ्यमंत्री रमन सिंह ने अविभाजित मध्यप्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री और बिलासपुर के पूर्व विधायक स्वर्गीय श्री बीआर यादव को भी श्रद्धांजलि अर्पित की. उन्होंने कहा कि स्वर्गीय श्री यादव ने पत्रकार के रूप में और बाद में जनप्रतिनिधि के रूप में समाज में अपनी अमिट पहचान बनायी. वह राजनीतिज्ञ जरूर थे, लेकिन वैचारिक मतभिन्नता के बावजूद सभी लोगों से सहज भाव से मिला करते थे. उनसे मिलना अपने आप में एक नया अनुभव होता था.

दिवंगतों के सम्मान में विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव, संसदीय कार्य मंत्री अजय चन्द्राकर, स्वास्थ्य मंत्री अमर अग्रवाल और विधायकगण भूपेश बघेल और केशव चन्द्रा ने भी शोक-उदगार व्यक्त किए. तीनों दिवंगत नेताओं के सम्मान में सदस्यों ने सदन में दो मिनट का मौन धारण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी और उनके परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!