सर्जिकल स्ट्राइक पर कौन सच्चा- कांग्रेस

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर गोले दागने शुरु कर दिये हैं. उल्लेखनीय है कि मंगलवार को संसदीय समिति में बताया गया था कि सर्जिकल ऑपरेशन पहले भी हुए थे लेकिन जितने बड़े पैमाने पर इस बार हुआ था वैसा पहले कभी नहीं हुआ. अब कांग्रेस इसी को मुद्दा बनाकर मोदी सरकार पर हमला बोल रही है.

हालांकि, संसदीय समिति में एस जयशंकर के बयान को लेकर ये सफाई आ रही है कि विदेश सचिव ने ये भी कहा है कि इस बार सरकार ने न सिर्फ स्ट्राइक की, बल्कि इसे सार्वजनिक तौर पर कबूल करके एलान भी किया है. यही बात अहम है.

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को आड़े हाथों लेते हुए ट्वीट किया, “विदेश सचिव एस जयशंकर ने भी माना कि सर्जिकल स्ट्राइक यूपीए सरकार के दौर में भी हुये हैं. मिस्टर पर्रिकर, क्या उन्हें भी आरएसएस ने प्रक्षिण दिया था.”

 

गौरतलब है कि विदेश सचिव एस जयशंकर ने स्थायी संसदीय समिति को बताया कि पहले भी सर्जिकल स्ट्राइक हुये थे लेकिन एक बड़ा अंतर ये था कि पहले कभी ऐसे ऑपरेशन को सार्वजनिक नहीं किया गया था. स्थायी समिति की उस बैठक में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी शरीक़ थे, लेकिन उन्होंने कोई सवाल नहीं पूछा.

बैठक में मौजूद समिति के सदस्यों को विदेश सचिव एस जयशंकर और उपसेना प्रमुख ले. जनरल विपिन रावत ने सर्जिकल ऑपरेशन और उसके बाद भारत-पाकिस्तान के रिश्तों के बारे में जानकारी दी.

सूत्रों के मुताबिक़ कांग्रेस और विपक्ष के सदस्य ये जानना चाहते थे कि ऐसे ऑपरेशन पहले भी हुये हैं या नहीं? विदेश सचिव ने ये तो माना कि ऐसे ऑपरेशन पहले भी सेना करती रही है लेकिन इस बार इसका पैमाना ज्यादा बड़ा था. ये भी पहली बार हुआ कि सफल ऑपरेशन के बाद सरकार ने इसका सार्वजनिक ऐलान भी किया. ये ही इस सर्जिकल स्ट्राइक की खास बात है.

सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी पर मार्केटिंग इस बार ही हुई…

मंगलवार को संसदीय समिति की खबर लगने के बाद सोशल मीडिया में तरह-तरह के बयान आ रहें हैं. उसके बाद से सोशल मीडिया पर #ForeignSecExposesGovt ट्रेंड कर रहा है.

पवन यादव का ट्वीट- ForeignSecने खुलाशा किया क़ि पहले भी #SurgicalStrikes हुआ है तो भक्त कभी भी जयशंकर को देश का गद्दार घोषित कर सकते है.

 

जिशान हैदर ने फेसबुक पर लिखा है– भारतीय सेना पहले भी इस तरह जवाब देती रही है लेकिन जिस तरह इस बार प्रचार किया जा रहा है उसका मक़सद राजनीतिक है. देश की सुरक्षा के मुद्दे का बीजेपी राजनीतिकरण कर रही है, ये गलत और शर्मनाक है.

सेनानी सिंह ने फेसबुक पर लिखा है- विदेश सचिव ने संसदीय समिति को बताया की पहले भी सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी पर मार्केटिंग इस बार ही हुई…पर्रिकर जी अब?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *