ट्रंप का जीतना मुश्किल है: रिपोर्ट

न्यूयार्क | समाचार डेस्क: एक अध्ययन के अनुसार अपनी ही पार्टी में विरोध का सामना कर रहे डोनाल्ड ट्रंप का राष्ट्रपति चुनाव जीतना मुश्किल है. अध्ययनकर्ताओं का कहना है कि आज तक ऐसा कोई भी उम्मीदवार अमरीकी राष्ट्रपति का चुनाव नहीं जीत सका है जिसको लेकर पार्टी में विभाजन हो. इस कारण से अगर डोनाल्ड ट्रंप रिपब्लिकन पार्टी में चल रहे तमाम विरोध के बावजूद उम्मीदवार बनने में सफल हो भी जाते हैं तो भी उनके राष्ट्रपति चुनाव में जीतने की संभावना बहुत कम है. शोधकर्ताओं का मानना है कि बिरले ही ऐसा हुआ है कि किसी व्यक्ति या मुद्दे पर विभाजित पार्टी का उम्मीदवार जीत कर व्हाइट हाउस पहुंच जाए. इस अध्ययन में पिछले राष्ट्रपति चुनावों में उम्मीदवार के नाम पर विभाजित पार्टियों की जांच की गई. इसमें पाया गया कि पार्टी के अंदर चाहे राष्ट्रीय स्तर पर असहमति हो या प्रांतीय स्तर पर, दोनों ही आम चुनाव के नतीजों पर गहरा असर डालते हैं.

अध्ययनकर्ताओं में से एक अमरीका के जार्जिया विश्वविद्यालय के राजनीतिक विज्ञान के एसोसिएट प्रोफेसर पॉल-हेनरी गुरियन ने बताया, “इतिहास में जब भी कोई पार्टी विभाजित रही है और उसके मुकाबले में अगर सामने वाली पार्टी में एकता है तो विभाजित पार्टी को हमेशा राष्ट्रपति चुनाव में हार मिली है.”

गुरियन कहते हैं कि 1964 से 1984 तक के सभी चुनावों का अध्ययन यही बताता है कि सभी में विभाजित पार्टी की हार हुई है.

यह अध्ययन पोलिटिकल बिहेवियर जर्नल में प्रकाशित हुआ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *