न्यूड फिल्म बनाने वाले डाक्टर को कैद

लंदन : हाथ में बंधी घड़ी में लगे खुफिया कैमरे से अपने 360 मरीजों की न्यूड फिल्में बनाने वाले भारतीय मूल के डाक्टर देविंदर जीत बैन्स को कोर्ट ने 12 साल की सजा सुनाई है. स्विंडन क्राउन कोर्ट में देविंदर जीत बैन्स ने माना कि उसने अभी तक 39 यौन अपराध किये हैं.

डाक्टर देविंदर जीत बैन्स ने जब एक महिला मरीज के जननांगों को छूते हुये उसके यौन संबंधों को लेकर बात शुरु की तो महलि हड़बड़ा गई और उसी ने पहले बार इस डाक्टर के खिलाफ पुलिस में शिकायत की. पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और बैन्स के यहां छापा मार कर उनका लैपटाप, सेलफोन और कैमरा युक्त घड़ी बरामद किया तो यौन अपराध के सैकड़ों मामले सामने आ गये.


मामला जब कोर्ट में आया तो बैन्स के वकील ने तर्क दिया कि ऐसा यह घटना तब हुई, जब डाक्टर बैन्स की यौन क्षमता पर सवाल के चलते उनकी शादी टूट चुकी है. ऐसे में इस मामले में मानवता के आधार पर विचार किया जाना चाहिये. बैन्स के वकील का कहना था कि बैन्स को अपनी गलती का अहसास है और वह माफी मांग रहा है. लेकिन बैन्स के वकील के तर्क काम नहीं आये.

अदालत ने कहा कि बैन्स एक ऐसे पेशे में हैं, जहां भरोसा सबसे बड़ी बात है. ऐसे में उसने अपने मरीजों के विश्वास को तोड़ा है. जज ने कहा कि बैन्स ने चिकित्सा व्यवसाय को शर्मसार किया है. डॉक्टर और उसके मरीज के बीच का संबंध चिकित्सा व्यवसाय के बुनियादी महत्व से संबंधित है. अदालत ने कहा कि यह बात खासतौर से तब लागू होती है जब एक महिला मरीज आंतरिक मामलों पर एक पुरुष डॉक्टर की सलाह लेती है. जज ने इसके बाद बैन्स को 12 साल की सजा सुनाई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!