ड्रीमलाइनर सेवा से नहीं हटेगा: एयर इंडिया

नई दिल्ली | एजेंसी: राष्ट्रीय विमानन कंपनी एयर इंडिया ने बुधवार को कहा कि ड्रीमलाइनर 787 विमान को सेवा से हटाने की कोई योजना नहीं है, क्योंकि इसके साथ जुड़ी घटनाओं में सुरक्षा का कोई मुद्दा जुड़ा हुआ नहीं है.

एयर इंडिया हालांकि अमेरिकी कंपनी से मुआवजा पैकेज मांगने से पहले ड्रीमलाइनर की ईंधन क्षमता पर गौर कर रही है.


एयर इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक रोहित नंदन ने कहा कि बोइंग और नागरिक उड्डयन महानिदेशक (डीजीसीए) दोनों इस बात से संतुष्ट हैं कि सुरक्षा का कोई मुद्दा नहीं है. उल्लेखनीय है कि बुधवार को ही बोइंग ने 13वें ड्रीमलाइनर की आपूर्ति की है.

उन्होंने कहा, “आज की स्थिति के मुताबिक एयर इंडिया की ड्रीमलाइनर को सेवा से हटाने की कोई योजना नहीं है. इस पर नियामक को सोचना है लेकिन इस विमान से मिलने वाली सेवा और लाभ-हानि को लेकर हम संतुष्ट हैं.”

बुधवार को यहां शुरू हुए ‘इंडिया एविएशन 2014’ में उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “पिछले डेढ़ साल में हमें जो अनुभव हुए हैं, वह नए विमानों में आम बाते हैं. हर कोई बेड़े में शामिल नए विमानों के साथ खुद को समायोजित करना चाहता है. बोइंग और डीजीसीए दोनों ने प्रत्येक घटना पर गौर किया है और इस बात को लेकर संतुष्ट है कि इन घटनाओं के साथ सुरक्षा का कोई मुद्दा नहीं जुड़ा हुआ है.”

उन्होंने कहा कि ये घटनाएं सॉफ्टवेयर या कुछ छोटे-मोटे तकनीकी मामलों से जुड़े हो सकते हैं, और एयर इंडिया के इंजीनियर इनसे निपट सकते हैं. उन्होंने कहा, “एयर इंडिया की बोइंग की टीम के साथ वार्ता हुई है और हमारे इंजीनियर उनके संपर्क में हैं.”

नंदन ने कहा, “फिलहाल बोइंग दिसंबर तक हासिल हुए विमानों में सॉफ्टवेयर का उन्नयन कर रही है. तब से अधिकतर विमानों का उन्नयन हो चुका है और घटनाओं की आवृत्ति धीमे-धीमे घट रही है.”

ईंधन क्षमता के बारे में नंदन ने कहा कि पहला विमान हासिल होने पर उन्हें पता था कि मशीनें वादे से अधिक भारी थीं.

सरकार, विमानन कंपनी और बोइंग के अधिकारियों की एक समिति पिछले 18 महीने के आंकड़े इकट्ठा करेगी और इसका विश्लेषण कर देखेगी कि ईंधन क्षमता के पूर्व घोषित वादे से वास्तविकता में कितना अंतर है.

उन्होंने कहा, “18 महीना नवंबर में पूरा होगा. उसके बाद हम मुआवजा पैकेज पर फैसला लेंगे.”

एयर इंडिया ने इंडिया एविएशन 2014 में एक ड्रीमलाइनर का प्रदर्शन किया है और पुष्टि की है कि कंपनी द्वारा 27 विमानों के दिए गए ठेके में से 13वां विमान बुधवार को दिल्ली पहुंच गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!