पेट पर जमी चर्बी हो सकती है खतरनाक

वॉशिंगटन | एजेंसी: यदि आपके पेट का आकार दिनों दिन बढ़ रहा है, तो आपके लिए सावधान हो जाने का समय है. वैज्ञानिकों ने उदर के मोटापे से संबंधित खतरे के बारे में आगाह किया है.

साल 2012 में सिटी कॉलेज ऑफ न्यूयार्क के ग्रोव स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग में सिविल इंजीनियरिंग के सहायक प्रोफेसर नीर क्रेकॉर और उनके पिता प्रबंध निदेशक जेस क्रेकॉर ने एक नई विधि विकसित की जिसके माध्यम से उदर के मोटापे से होने वाले खतरे के बारे में पता किया जा सकता है.

यह अध्ययन 20 फरवरी को ऑनलाइन पत्रिका प्लोस वन में प्रकाशित की गई. लेख में कहा गया कि ‘ए बॉडी शेप इंडेक्स’ (एबीएसआई) नाम की तकनीक मृत्यु दर का प्रभावी संकेतक है और बॉडी मास इंडेक्स से कहीं अधिक सक्षम संकेतक है, जिसका उपयोग आज तक मोटापे को मापने में सामान्य तौर पर किया जाता रहा है.

ताजा अध्ययन के परिणाम 1999 और 2004 के बीच नेशनल हेल्थ एंड न्यूट्रिशन एक्जामिनेशन सर्वे (एनएचएएनईएस) द्वारा किए गए अध्ययन से काफी मिलता-जुलता है.

अध्ययन से यह साबित होता है कि एबीएसआई असमय मृत्यु के खतरे से आगाह करने वाला वैध संकेतक है.

अध्ययनकर्ताओं ने पाया कि एबीएसआई में वृद्धि का संबंध असमय मृत्यु के खतरे से है और हालिया एबीएसआई अधिक विश्वसनीय संकेतक है. शोधकर्ता अब जीवनशैली या दूसरे कारकों के माध्यम से एबीएसआई को कम कर दीर्घायु प्राप्त करने की संभावनाओं की तलाश में जुटे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *