एफडीआई का असर, रेल कंपनियों के शेयर उछले

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: मोदी कैबिनेट द्वारा रेलवे के रेलवे के अघोसंरचना में 100 फीसदी एफडीआई के निर्णय के बाद मानो रेल से संबंधित शेयरों में जान आ गई है. गुरुवार को बंबई स्टॉक एक्सचेंज में दोपहर करीब दो बजे टेक्समाको रेल एंड इंजीनियरिंग लिमिटेड के शेयर सात फीसदी उछाल के साथ 97.80 रुपये पर कारोबार कर रहे थे.

वहीं, कालिंदी रेल निर्माण लिमिटेड के शेयर पांच फीसदी उछाल के साथ 96.65 रुपये की ऊपरी सर्किट सीमा पर लगे देखे गए.

टीटागढ़ वैगंस लिमिटेड के शेयर 3.29 फीसदी उछाल के साथ 241.60 रुपये पर कारोबार करते देखे गए.

रेल निर्माण कंपनी स्टोन इंडिया के शेयर 4.88 फीसदी उछाल के साथ 36.55 रुपये की ऊपरी सर्किट सीमा पर लगे देखे गए.

उल्लेखनीय है कि मंत्रिमंडल ने एक दिन पहले रेल अधोसंरचना के विकास के लिए इस क्षेत्र में 100 फीसदी एफडीआई के एक प्रस्ताव को मंजूरी दी थी. इससे पहले रेलवे क्षेत्र में विदेशी निवेश को अनुमति नहीं थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नई सरकार हालांकि हाई-स्पीड रेलवे और कोयला खान तथा बंदरगाह को जोड़ने वाली रेल लाइनों जैसी अधोसंरचना परियोजनाओं के विकास पर जोर दे रही है.

रेलवे के पास अभी नकदी की कमी है और बिना निजी क्षेत्र की मदद के ऐसी परियोजनाओं को अंजाम नहीं दिया जा सकता. बताया जाता है कि चीन और जापान की निजी कंपनियां इस तरह की परियोजनाओं में रुचि ले रही हैं. गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के समय नरेन्द्र मोदी ने देश में निवेश के लिये वातावरण बनाने का वादा किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *