कर्ज माफी योजना में वित्तीय गड़बड़ियां: चिदंबरम

नई दिल्ली | एजेंसी: वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने मंगलवार को राज्यसभा में कहा कि सरकार की 52 हजार करोड़ रुपये की कर्ज माफी योजना में 230 करोड़ रुपये की अनियमितता का पता चला है. उन्होंने प्रश्नकाल के दौरान कहा, “इस योजना का लाभ 3.73 करोड़ किसानों को मिला.” उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी योजना में कमियां रह सकती हैं.

उन्होंने कहा, “3,36,516 खातों में अनियमितता का पता चला है. इसमें 230 करोड़ रुपये की राशि शामिल है.” उन्होंने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक और राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक इन खातों की जांच कर रहे हैं और गड़बड़ियां करने वालों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार ने 2008 में कर्ज माफी योजना की घोषणा की थी. विश्लेषकों के मुताबिक 2009 का आम चुनाव जीतने में इससे बड़ा फायदा मिला था.

देश के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) ने मार्च में संसद में पेश की गई रिपोर्ट ‘कृषि कर्ज माफी और कर्ज राहत योजना 2008 का कार्यान्वयन’ में कहा था कि कम से कम हर पांच में से एक मामले में अनियमितता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *