साधु,सपना,सोना,शुरु खुदाई

उन्नाव | एजेंसी: साधु द्वारा सपने में देखे गये सोने की खुदाई काम शुक्रवार को शुरु हो गया. उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के डौडियाखेड़ा गांव में खंडहरनुमा किले के नीचे 1000 टन सोने का खजाना होने का सपना संत शोभन सरकार ने तीन महिने पहने देखा था.

यह किला राजा राव रामबक्श सिंह का है जो 1857 में अग्रेजों के खिलाफ वीरता के साथ लड़े थे. अग्रेजों नें उन्हें फासी पर लटका दिया था. इलाके में किस्से कहानियों में अक्सर किले के नीचे दबे खजाने का जिक्र होता आया है.


बताया रहा है कि केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री चरण दास महंत ने सितंबर के आखिरी सप्ताह में खजाना दावा होने का दावा करने वाले संत शोभन सरकार के साथ किले का दौरा किया था. उसके पश्चात् तीन अक्टूबर को भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के लखनऊ मंडल के अधिकारियों की एक टीम ने स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों के साथ किले का दौरा किया.

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने किले के नीचे के जमीन का परीक्षण करवाया था. जिससे संकेत मिले हैं कि जमीन के 20-25 फुट नीचे कोई धातु है लेकिन वह धातु कौन सा है यह बताया नही जा सका. फिलहाल शुक्रवार को दोपहर 12 बजे के बाद किले की खुदाई का काम भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने शुरु करवा दिया.

ऐतिहात के तौर पर इलाके में धारा 144 लगा दी गई तथा भारी संख्या में पुलिस बल तौनात कर दिये गये. खुदाई में कितना समय लगेगा? सोना जमीन में कहां पर और कितने नीचे दबा है? इस तरह के तमाम सवाल लोगों के मन में हैं. जिनका जवाब फिलहाल खुद भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के अधिकारियों के पास नहीं है.

वैसे बताया जा रहा है कि खुदाई का काम करीब एक माह तक चलेगा. किले के आसपास लोगों की भारी भीड़ जमा है. वहां मौजूद लोगों में सोने को लेकर कौतूहल है. पूरे इलाके में सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं. भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के अधिकारियों की टीम उन्नाव के डौडियाखेड़ा में डेरा डाले हुए है. किले में जिस जगह पर खुदाई होनी है, उसे चिन्हित कर चारों तरफ बैरीकेडिंग कर दी गई है. इलाके में देशी और विदेशी मीडिया का भारी जमावड़ा है.

खजाना मिलेगा कि नही यह अभी से कहा नही जा सकता लेकिन भारतीय संस्कृति में साधु, खजाना तथा सोना पुराने समय से ही महत्वपूर्ण हैं. वैसे खजाने के दावेदार अभी से खड़े हो गये हैं. राजा के वंशजों का कहना है कि उन्हें 500 टन सोना मिलना चाहिये वहीं कुछ लोग इससे इलाके के विकास की बात कर रहें हैं. बहरहाल महत्वपूर्ण यह है सोना मिलता है कि नही तथा कितनी मात्रा में.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!