इस्लामिक स्टेट के खतरनाक मंसूबे

वाशिंगटन | समाचार डेस्क: सीरिया तथा इराक के एक भूभाग पर कब्जा जमाये बैठे इस्लामिक स्टेट के अत्यंत खतरनाक मंसूबो का पर्दाफाश हुआ है. अब इस्लामिक स्टेट इराक से लगे ईरान के परमाणु हथियार के रहस्य को जान लेना चाहता है. जाहिर है कि इसका उपयोग इस्लामिक स्टेट के जंगी मंसूबो को परवान चढ़ाने के लिये होगा. इसका खुलासा इराक में इस्लामिक स्टेट के 6 सदस्यीय युद्ध कैबिनेट के सदस्य अहमद अल मशदानी के घर छापे के दौरान हुआ है.

अहमद अल मशदानी के घर छापे में एक घोषणा पत्र की बरामदगी हुई है जिसमें इस बात का जिक्र है कि ईरान के परमाणु हथियार के रहस्यो तक पहुंचा जाये. पश्चिमी सुरक्षा विशेषज्ञों का मानना है कि अहमद अल मशदानी के घर से जब्त घोषणा पत्र असली है. उल्लेखनीय है इस्लामिक स्टेट सुन्नी आतंकवादियों का संगठन है जिसने इराक तथा सीरिया के रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण ठिकानों पर कब्जा कर लिया है. उनका इरादा अपने आधार क्षेत्र को बढ़ाना तथा इस्लामिक स्टेट का विस्तार करना है.


उधर, अमरीका के नेतृत्व में ब्रिटेन, इस्लामिक स्टेट के खिलाफ सैन्य कार्यवाही कर रहा है जिसके जवाब में इस्लामिक स्टोट ने अमरीका तथा ब्रिटेन के 2-2 पत्रकारों का सिर कलम करते हुए वीडियो जारी किया है. वहीं, सीरिया तथा इराक की सेनाएं भी इस्लामिक स्टेट के खिलाफ हमलावर रुख पर कायम हैं.

इस्लामिक स्टेट के घोषणा पत्र से तेल के खेल का भी खुलासा होता है. इस दस्वेज में अहमद अल मशदानी ने योजना बनाई है कि ईरान के बहुसंख्य शिया समुदाय को खत्म कर दिया जाये. इसके लिये वे उन्होंने नाजियों के समान विचार तथा योजनाएं व्यक्त किया हैं. इस्लामिक स्टेट के दस्तावेज के अनुसार उनकी योजना है कि ईरान के परमाणु रहस्यों तक पहुंचने में क्रेमलिन उनकी मदद करे बदले में वे रूस को अपने कब्जे के तेल क्षेत्र तक जाने देंगे. जाहिर सी बात है कि अमरीकी सेनाएं भी इस्लामिक स्टेट पर इललिये हमले कर रहीं हैं क्योकि उन्होंने इराक के तेल क्षेत्र पर कब्जा कर लिया है जिससे अमरीकी हित जुड़े हुए हैं.

अहमद अल मशदानी के घर से बरामद इस्लामिक स्टेट के घोषणा पत्र के अनुसार उनकी योजना है कि हिंद महासागर में एक द्वीप खरीद कर सैन्य अड्डा बनाया जाये. रासायनिक हथियारों के बारे में भी इस घोषणा पत्र में जिक्र किया गया है. जाहिर है कि इस्लामिक स्टेट के मंसूबे बड़े खतरनाक हैं जिनसे आने वाले दिनों में दो-पांच होना पड़ेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!