आईएएस दुर्गा नागपाल के निलंबन पर पुनर्विचार होगा

लखनऊ | एजेंसी: भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी दुर्गा शक्ति नागपाल को निलंबित करने के बाद विरोध का सामना कर रही उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार ने अब उनके निलंबन पर पुनर्विचार करने का फैसला लिया है. दरअसल उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा खनन माफियाओं के लिए सिरदर्द बनीं नागपाल को निलंबित करने के बाद से ही मामला तूल पकड़ता जा रहा है.

आईएएस एसोसिएशन के सदस्यों ने निलंबित अधिकारी दुर्गा शक्ति नागपाल के साथ सोमवार दोपहर प्रदेश के कार्यवाहक मुख्य सचिव आलोक रंजन से मुलाकात की और उनका निलंबन पर नाराजगी जताते हुए इसे वापस लेने की मांग की जिसके बाद शासन द्वारा फैसले पर पुनर्विचार करने की बात कही गई.


आलोक रंजन ने संवाददाताओं से कहा, “आईएएस एसोसिएशन के सदस्य मुझसे मिले और नागपाल का निलंबन वापस लेने तथा पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की. मैंने उन्हें उनकी मांगें मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के समक्ष रखने का आश्वासन दिया है. फिलहाल मुख्यमंत्री राज्य से बाहर हैं. उनके आने के बाद ही यह संभव हो सकेगा.”

गौरतलब है कि नोएडा में खनन माफियाओं के खिलाफ मुहिम चलाने वाली एसडीएम सदर (नोएडा) दुर्गा शक्ति नागपाल को राज्य सरकार ने शनिवार को निलंबित कर दिया था.

सरकार ने तर्क दिया था कि नोएडा के कादलपुर में एक निर्माणाधीन धार्मिक ढांचे की दीवार कानूनी प्रक्रिया के पालन के बगैर गिराई गई, जिसके कारण साम्प्रदायिक सौहार्द प्रभावित हुआ और इसलिए निलंबन की कार्रवाई की गई.

वहीं, विपक्षी दलों का आरोप है कि खनन माफिया के दबाव में सरकार ने ईमानदारी से काम कर रही आईएएस दुर्गा शक्ति नागपाल के खिलाफ कार्रवाई की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!