आईपीएल भारत,यूएई और बांग्लादेश में होगा

नई दिल्ली | एजेंसी: ट्वेंटी-20 क्रिकेट के सबसे बड़े पेशेवर टूर्नामेंट-इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के सातवें संस्करण का आयोजन 16 अप्रैल से एक जून के बीच भारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में होगा.

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने बुधवार को इसकी घोषणा की. बीसीसीआई ने यह भी कहा कि आम चुनावों के मद्देनजर बांग्लादेश को स्टैंडबाई मेजबान के तौर पर कार्यक्रम में शामिल किया गया है. आम चुनावों को देखते हुए भारत सरकार द्वारा सुरक्षा मुहैया कराने को लेकर असमर्थता जताए जाने के बाद बीसीसीआई ने आईपीएल को दूसरी बार देश से बाहर ले जाने का फैसला किया. 2009 में आम चुनावों के कारण टूर्नामेंट के सभी मैच दक्षिण अफ्रीका में आयोजित किए गए थे.

बीसीसीआई सचिव संजय पटेल ने अपने बयान में कहा, “कम से कम 16 मैच यूएई में होंगे. बीसीसीआई एमिरेट्स क्रिकेट बोर्ड, उसके प्रमुख शेख नाहायन मुबारक अल नाहायन और यूएई सरकार का आभारी है. हम इस बात को लेकर शुक्रगुजार हैं कि यूएई ने 16 से 30 अप्रैल तक पेप्सी आईपीएल के सातवें संस्करण के मैच अपने यहां कराने की सहमति प्रदान की.”

पटेल ने यह भी कहा कि अगर देश में 1 से 12 मई के बीच मैच कराना सम्भव नहीं हुआ तो फिर इस दौरान खेले जाने वाले मैचों का आयोजन बांग्लादेश मे होगा. बोर्ड ने इस सम्बंध में भारत सरकार से सम्पर्क किया है और इस बारे में स्थिति अगले कुछ दिनों में साफ हो जाएगी.

बकौल पटेल, “हमने 1 मई से 12 मई तक के मैचों के भारत में आयोजन के लिए गृह मंत्रालय से सम्पर्क किया है. हम चाहते हैं कि मई में जिन शहरों में चुनाव की प्रक्रिया खत्म हो गई हो, वहां सरकार हमें मैच कराने की अनुमति दे.”

“सरकार अगर मानी तो ठीक है, नहीं तो बीसीसीआई को उसका कोई भी फैसला मंजूर होगा. अगर सरकार नहीं मानी तो फिर हम इस दौरान के मैचों का आयोजन बांग्लादेश में कराएंगे. बांग्लादेश सरकार इसके लिए तैयार है और हम उसका भी शुक्रिया अदा करना चाहते हैं.”

पटेल ने कहा कि 13 मई को होने वाले अंतिम चरण के मतदान के बाद सारे मैच भारत में खेले जाएंगे लेकिन मतगणना के दिन (16 मई) को कोई मैच आयोजित नहीं होगा. तत्पश्चात आईपीएल के प्लेऑफ मैच और फिर फाइनल भारत में होंगे.

आईपीएल से जुड़े एक अधिकारी ने कहा कि आईपीएल-7 के पहले चरण के मुकाबले अबू धाबी, दुबई और शारजाह में खेले जाएंगे. इन स्टेडियम में हाल के दिनों में लगातार अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट होते रहे हैं लेकिन भारत इन स्थानों पर बीते 10 साल में बहुत कम खेला है. 80 और 90 के दशक में यूएई भारतीय क्रिकेट टीम का लोकप्रिय खेल स्थल हुआ करता था लेकिन सन 2000 के मैच फिक्सिंग मामले के बाद भारत ने इस देश में सिर्फ दो मैच खेले हैं.

चुनाव आयोग द्वारा आम चुनावों की तारीख की घोषणा के बाद बीसीसाआई ने कहा था कि चुनावों के लेकर सरकार द्वारा सुरक्षा मुहैया कराने की असमर्थता जताने के बाद उसकी सूची में दक्षिण अफ्रीका प्राथमिक तटस्थ आयोजन स्थल है लेकिन अंतिम रूप से दक्षिण अफ्रीका के नाम पर विचार नहीं किया गया. इसके पीछे दूरी और टाइम जोन में अंतर को कारण माना जा सकता है.

आईसीसी ने आईपीएल मैच यूएई में कराने सम्बंधी बीसीसीआई के फैसले का स्वागत किया है. आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेव रिचडर्सन ने कहा कि इससे यूएई के लोगों को क्रिकेट को रोमांच का लुत्फ लेने का मौका मिलेगा. रिचर्ड्सन के मुताबिक अबू धाबी, शारजाह और दुबई ने हाल ही में आईसीसी ट्वेंटी-20 विश्व कप क्वालीफायर और अंडर-19 विश्व कप का आयोजन किया है और इस लिहाज से ये स्थान आईपीएल मैचों के लिए बिल्कुल माकूल और तैयार हैं.

इस बीच, आईसीसी ने बीसीसीआई के इस फैसले का स्वागत किया है. आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेव रिचडर्सन ने कहा कि इससे यूएई के लोगों को क्रिकेट को रोमांच का लुत्फ लेने का मौका मिलेगा.

रिचर्ड्सन के मुताबिक अबू धाबी, शारजाह और दुबई ने हाल ही में आईसीसी ट्वेंटी-20 विश्व कप क्वालीफायर और अंडर-19 विश्व कप का आयोजन किया है और इस लिहाज से ये स्थान आईपीएल मैचों के लिए बिल्कुल माकूल और तैयार हैं.

रिचर्ड्सन ने कहा, “आईपीएल का पहला चरण यूएई में कराने का बीसीसीआई का फैसला स्वागत योग्य है. इससे यूएई में लगातार क्रिकेट के आयोजन का रास्ता साफ हुआ है. इस क्षेत्र ने हाल ही में ट्वेंटी-20 विश्व कप क्वालीफाईंग और अंडर-19 विश्व कप का आयोजन किया है. यह खबर यूएई की राष्ट्रीय टीम के लिए भी खुशखबरी है क्योंकि इस टीम ने ट्वेंटी-20 विश्व कप और आईसीसी विश्व कप (50 ओवर) के लिए क्वालीफाई किया है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *