इलाज में लापरवारी, डॉक्टर के खिलाफ केस

जगदलपुर | एजेंसी: कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत धरमपुरा मार्ग स्थित काले नर्सिंग होम में शनिवार देर रात एक बच्चे की मौत को लेकर जमकर बवाल मचा. परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाकर क्लीनक में जमकर हंगामा मचाया. घटना की शिकायत सिटी कोतवाली में की गई है.

दंतेवाड़ा निवासी राकेश चंद सोनी ने बताया कि उनकी पत्नी रजनी की डिलिवरी बीते सात जनवरी को दंतेवाड़ा जिला अस्पताल में हुई थी. चिकित्सक ने बच्चे का वजन कम होने की बात कहते जगदलपुर ले जाकर उपचार कराने की सलाह दी.

इस पर वह बच्चे को लेकर जगदलपुर पहुंचे और धरमपुरा र रोड स्थित काले नर्सिंग होम में उसे भर्ती करवाया. रात को करीब 3 बजे रोने लगा. नर्स को बुलाने पर उसने दूर से ही देखकर बच्चों को ऐसा होता रहता है कहते हुए वह चली गई. डॅाक्टर को बुलाने बोलने के बाद भी डॅाक्टर नहीं बुलाया गया.

परिजनों का कहना है कि डॅाक्टर का फोन नंबर मांगने पर भी उन्हें नहीं दिया गया. आज सु़बह बच्चे की मृत्य़ु हो गई. परिजनों ने बताया कि रात में दीपा नाम की नर्स ड्यूटी पर थी. परिजनों का कहना है कि जब बच्चे की स्थिति बिगड़ रही थी उस समय सही इलाज मिल जाता तो उसकी जान बच सकती थी. कम से कम बच्चे की स्थिति बिगड़ते समय डॅाक्टर के उपस्थित रहने मात्र से बच्चे के माता- पिता को संतुष्टि मिलती.

बच्चे की मौत की खबर लगते ही नर्सिंग होम के सामने काफी भीड़ इकठ्ठी हो गई. लोग इलाज में लापरवाही करते हो-हल्ला मचाने लगे.

घटना की खबर लगते ही धरमपुरा पुलिस चौकी से बल मौके पर पहुंचा और लोगों को काबू में किया. घटना को लेकर शहर में तरह-तरह की चर्चा रही. लोगों ने डाक्टर व स्टाफ की लापरवाही को अमानवीय बताया. इधर मामले की जांच कर र हे चौकी प्रभारी धरमपुरा राजेश आचार्य ने बताया कि शिकायत मिली है. इस आधार पर मर्ग कायम कर विवेचना की जा रही है. शिकायत सही पाए जाने पर आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाएगा.

घटना के बारे में डाक्टर मनीष काले से उनके मोबाइल पर संपर्क किया गया लेकिन उनसे चर्चा नहीं हो सकी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *