‘कलाम की अंत्येष्टि रामेश्वरम में’

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम की अंत्येष्टि रामेश्वरम स्थित उनके पैतृक स्थान पर होगी होगी. रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता सितांशु कर ने मंगलवार को ट्विटर पर लिखा, “दिवंगत राष्ट्रपति की अंत्येष्टि तमिलनाडु के रामेश्वरम शहर स्थित उनके पैतृक स्थान पर होगी.”

‘मिसाइल मैन’ के नाम से मशहूर कलाम का सोमवार को मेघालय की राजधानी शिलांग में निधन हो गया. वह इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, शिलांग में एक व्याख्यान देते समय अचानक तबीयत बिगड़ने पर गिर पड़े थे. उनका पार्थिव शरीर मंगलवार सुबह वायु सेना के विशेष विमान से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली लाया गया.


पूर्व राष्ट्रपति ए. पी. जे. अब्दुल कलाम के सम्मान में मंगलवार को लोकसभा की कार्यवाही दो दिनों के लिए स्थगित कर दी गई. लोकसभा की बैठक मंगलवार सुबह जैसे ही शुरू हुई, अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कलाम के नाम शोक संदेश पढ़ा. उन्होंने कहा कि कलाम देश के असली रत्न थे और एक मेधावी राजनेता थे.

इसके बाद सदन में उपस्थित सभी सदस्यों ने खड़े होकर कलाम के सम्मान में कुछ क्षण मौन रखा और अध्यक्ष ने दो दिनों के लिए सदन स्थगित करने की घोषणा की.

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव और पूर्व प्रधानमंत्री एच. डी. देवेगौड़ा भी सदन में मौजूद थे.

इसी तरह पूर्व राष्ट्रपति ए.पी.जे.अब्दुल कलाम के निधन पर मंगलवार को राज्यसभा दो दिनों के लिए स्थगित कर दी गई. राज्यसभा के सभापति मोहम्मद हामिद अंसारी ने कहा, “देश ने एक सच्चा सपूत खो दिया है. प्रौद्योगिकी पुरुष, एक शिक्षक और एक नेता के रूप में उनके योगदान के प्रति देश हमेशा कृतज्ञ रहेगा.”

पूर्व राष्ट्रपति ए.पी.जे. अब्दुल कलाम का पार्थिव शरीर मंगलवार को नई दिल्ली लाया गया. वायु सेना का विशेष विमान उनका शव लेकर पालम स्थित इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर उतरा. कलाम के आवास 10-राजाजी मार्ग पर लोग अपराह्न् चार बजे से लोग उन्हें अंतिम श्रद्धांजलि दे पाएंगे. हालांकि पहले इस तरह की सूचना थी कि उन्हें अपराह्न् तीन बजे से श्रद्धांजलि दी जा सकेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!