बेंगलुरु से छुड़ाए गए बस्तर के 28 बंधुआ मजदूर

बेंगलुरु | विशेष संवाददाता: छत्तीसगढ़ के कोण्डागांव जिले के 8 बंधक मजदूरों को वापस लाने बेंगलुरु गई चार सदस्यीय टीम ने इन आठ मजदूरों के अलावा बस्तर के अन्य इलाकों के 20 अन्य बंधक मजदूरों को भी छुडाने में सफलता प्राप्त की है.

ज्ञातव्य हो कि विगत 27 अगस्त को कोण्डागांव कलेक्टर ने राजस्व निरीक्षक कमल देवांगन, सहायक निरीक्षक रूक्मणी मण्डावी, परियोजना अधिकारी सुलेखा रंगारी और श्रम निरीक्षक हरीशचंद्र मिश्रा की टीम गठित कर बेंगलुरु इन बंधक मजदूरों को वापस लाने के लिए रवाना की थी.

इस टीम में शामिल जिले के श्रम निरीक्षक हरीशचंद्र मिश्रा ने बताया कि कोण्डागांव जिले के 8 मजदूरों को बेंगलुरु में बंधक बनाए जाने की जानकारी के साथ बेंगलुरु पहुँची टीम ने जिला प्रशासन की मदद से बेंगलुरु शहर से लगभग 25 किलोमीटर दूर एक गांव में मजदूरों को छुड़ाया.

टीम ने इसके अलावा यहां कोण्डागांव के मजदूरों के अलावा बस्तर संभाग के अलग-अलग इलाकों के 20 अन्य मजदूरों को भी काम करते पाया. इन मजदूरों ने श्रम निरीक्षक श्री मिश्रा को पहचान लिया और अपनी व्यथा बताते हुए उन्हें अपने साथ ले जाने की गुजारिश की. यह मजदूर अमित व रमेश नामक ठेकेदार के यहां काम कर रहे थे.

इन मजदूरों ने बताया कि उन्हें विगत 6 माह से मजदूरी भूगतान नहीं किया गया है और सप्ताह में मात्र सौ रूपये खर्च करने के लिए दिया जा रहा था. बताया जा रहा है कि इसमें इनमें 16 महिला व 12 पुरूष शामिल है. इसकी सूचना बस्तर कलेक्टर को भी दी गयी है.

बंधक मजदूरों को मंगलवार को बेंगलुरु जिला प्रशासन के समक्ष पेश किया गया है. इसके बाद कल टीम सभी मजदूरों को लेकर बस्तर के लिए रवाना होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *