दमा मरीज़ो के लिये अच्छी खबर

बिलासपुर | संवाददाता: राष्ट्रीय दवा मूल्य नियंत्रण प्राधिकरण ने दमा एवं टी बी के मरीज़ो के लिये खुशखबरी से भरी घोषणा की है. आशा की जा रही है कि 15 अप्रैल से श्वास रोग की दवा लिवोसालबुटामोल की कीमत कम हो जायेगी. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से लेकर न्यायधानी बिलासपुर तथा ऊर्जा नगरी कोरबा प्रदूषण और धूल से पटे हुये हैं. ऐसे में छत्तीसगढ़ में दमा, श्वास रोगों तथा टीबी के मरीज़ों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है.

राष्ट्रीय दवा मूल्य नियंत्रण प्राधिकरण ने श्वास रोगों की नयी दवा लिवोसालबुटामोल की कीमत 23,100 रुपये प्रति किलो तय की है. इस 1 किलो लिवोसालबुटामोल के रॉ मटेरियल से 1 मिलीग्राम मात्रा के 10 लाख टेबलेट बनेंगे. जिससे प्रति टेबलेट का खर्च आयेगा 0.02 पैसा. हालांकि वर्तमान में उपलब्ध प्रति टेबलेट का मूल्य 80 से 90 पैसा पड़ता है. दिनभर में इसकी 2 से 3 खुराक लेनी पड़ती है. यह लिवोसालबुटामोल, श्वास रोगों की पुरानी तथा असरदार दवा सालबुटामोल की तुलना में बेहतर है तथा इससे हृदय की धड़कन भी नही बढ़ती है.

देखना यह है कि राष्ट्रीय दवा मूल्य नियंत्रण प्राधिकरण इसे कितने प्रभावी ढ़ंग से लागू करवा पाता है ताकि आम जनता को राहत मिल सके. संकट केवल इतना भर है कि कुछ दवा कंपनियां इसका मिश्रण ले कर आ जाएंगी. वैसे भी इसके मिश्रण का सीरप बाज़ार में उपलब्ध है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *