ममता कुलकर्णी ड्रग्स तस्कर बनी

ठाणे | समाचार डेस्क: विदेश में रह रही बॉलीवुड की अभिनेत्री ममता कुलकर्णी का संबंध 2000 करोड़ रुपये के ड्रग्स तस्करी में सामने आया है. जल्द ही उऩके खिलाफ ‘रेड कॉर्नर’ नोटिस जारी होने की संभावना है. इन दिनों केन्या में अपने पति के साथ रह रही ममता कुलकर्णी के खिलाफ तस्करी में पकड़े गये लोगों ने बयान दिया है कि वह भी भारत में हो रहे ड्रग्स तस्करी में शामिल है. 1990 के दशक की कई फिल्मों में अभिनय कर चुकीं अभिनेत्री ममता कुलकर्णी का नाम 2,000 करोड़ रुपये के एफेड्रिन ड्रग्स की तस्करी में सामने आया है. एक पुलिस अधिकारी ने शनिवार को इसकी जानकारी दी. पुलिस अब इस मामले में ममता के खिलाफ ‘इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस’ जारी करने के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो से संपर्क करेगी, ताकि अभिनेत्री को केन्या से जल्द से जल्द वापस भारत लाया जा सके.

ममता पिछले कुछ साल से अपने पति और व्यापार साझेदार विकी गोस्वामी के साथ केन्या में रह रही हैं. उनके पति भी इस मामले में सह-आरोपी हैं.


ठाणे के पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने संवादाताओं को बताया, “हमने एफआईआर में ममता का नाम भी शामिल किया है और उनके खिलाफ ‘इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस’ जारी करने की तैयारी में हैं. इससे पहले हमने उनके पति विकी के खिलाफ आरसीएन जारी किया था.”

सिंह ने कहा कि इस मामले में मोरक्को और कोलंबिया के नशीले पदार्थो के तस्कर शामिल हैं. अमरीका के औषधि प्रवर्तन प्रशासन ने केन्या के अंतर्राष्ट्रीय ड्रग्स तस्कर अबदुल्ला की फोटो उपलब्ध कराई है.

पुलिस ने बताया कि ममता और विकी ने जनवरी और अप्रैल में मादक पदार्थो की तस्करी से संबंधित एक बैठक में भी हिस्सा लिया.

नशीले पदार्थो की तस्करी के मामले अप्रैल से बढ़ने के बाद ठाणे पुलिस ने इस मामले में 10 लोगों को गिरफ्तार किया और सप्ताह की शुरुआत में एक स्थानीय अदालत में उनके खिलाफ आरोप-पत्र दायर किया.

इस मामले में अन्य सात संदिग्धों की तलाश की जा रही है और ठाणे पुलिस की ‘एंटी-नार्कोटिक्स सेल’ इसकी जांच में जुटी है.

दवाओं के निर्माण में इस्तेमाल होने वाले एफेड्रिन ड्रग्स की कथित तौर पर सोल्हापुर में एक फार्मा शाखा ‘एवोन लाइफसाइसेंस लिमिटेड’ द्वारा तस्करी की जा रही थी और इसे नार्कोटिक्स में तब्दील किया जा रहा था.

नार्कोटिक्स एक प्रकार का नशीला पदार्थ है, जो पार्टियों में इसके आदि लोगों के बीच काफी लोकप्रिय है.

नार्कोटिक रैकेट में ममता की भूमिका उस वक्त सामने आई, जब इस मामले में कुछ संदिग्धों ने अपने बयानों में अभिनेत्री का नाम लिया. अपने बयान में उन्होंने बताया कि ममता और उनके पति विक्की कुछ ग्राहकों के साथ मुलाकात कर व्यापार की चर्चा करते थे.

अप्रैल के मध्य में ठाणे पुलिस ने 18.50 टन एफेड्रिन ड्रग्स और 2.50 टन एनहाइड्राइड एसेटिक जब्त किए. अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में इन प्रतिबंधित दवाओं की कीमत 2,000 करोड़ रुपये से अधिक है. इन ड्रग्स को ठाणे और मुंबई के कई स्थानों से अंतर्राष्ट्रीय ड्रग रैकेट का भंडाफोड़ होने के बाद जब्त किया गया.

इस मामले में नाइजीरियाई सिपरेन चिनासा सहित आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया. महाराष्ट्र और गुजरात की सरकार कथित तौर पर फरार चार अन्य लोगों की तलाश कर रही है.

चिनासा ने पूछताछ में हुए खुलासे में अन्य संदिग्धों की जानकारी दी, जिनमें ‘एवोन लाइफसाइसेंस लिमिटेड’ के निदेशक मनोज जैन, पुनीत श्रिंगी, प्रदीप गिल, सागर पावले, मयूर सुखधरे, धानेश्वर स्वामी और धानेश्वर धिमिरी का नाम शामिल है.

अमरीका का औषधि प्रवर्तन प्रशासन भी इस जांच में शामिल हो गया है.

अमरीका के अधिकारियों ने ठाणे पुलिस अधिकारियों के साथ मुलाकात की और कथित तौर पर देश में वांछित ममता के बारे में जानकारी हासिल की.

इससे पहले, 2014 में केन्याई अधिकारियों ने विक्की और ममता को नशीले पदार्थों की तस्करी के आरोप में हिरासत में लिया था.

विक्की को इससे पहले संयुक्त अरब अमीरात द्वारा 1997 में ड्रग तस्करी में 25 साल कैद की सजा सुनाई गई थी, लेकिन अच्छे व्यवहार के कारण 2012 में जेल से रिहा कर दिया गया.

विक्की ने 2013 में ममता से शादी की और वर्तमान में दोनों केन्या के मोम्बासा में रहते हैं.

ठाणे के पुलिस आयुक्त सिंह ने कहा, “पूछताछ के दौरान गिरफ्तार किए गए संदिग्धों ने खुलासा किया कि वे केन्या जाकर विक्की से मिले थे और मोम्बासा में ड्रग फैक्टरी की स्थापना की योजना भी बनाई थी.”

बॉलीवुड में 1990 के दशक के दौरान ममता कुलकर्णी ने सलमान खान, शाहरुख खान, आमिर खान, सैफ अली खान, अक्षय कुमार, संजय कपूर, अतुल अग्निहोत्री और कई अन्य अभिनेताओं के साथ काम किया.

इसके अलावा ममता ने कई टेलीविजन शो में भी हिस्सा लिया और फेमिना पुरस्कार भी जीता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!