डॉल्फिन की स्मरणशक्ति लाजवाब

लंदन | एजेंसी: प्राणियों में मनुष्य की स्मरणशक्ति सबसे ज्यादा है लेकिन ड़ॉल्फिन की स्मरणशक्ति भी कम नही है, ऐसा ताजा शोधों से पता चला है. ‘प्रोसीडिंग ऑफ द रॉयल सोसाइटी बी’ पत्रिका के अनुसार एक वैज्ञानिक अध्ययन में यह पता चला है कि मनुष्य के बाद डॉल्फिन सबसे ज्यादा स्मृति भंडारण क्षमता रखती है. युनिवर्सिटी ऑफ शिकागो में किए गए एक शोध में वैज्ञानिकों ने पाया कि डॉल्फिन उनके विद्यालय के पूर्व सदस्य की सीटी की पहचान करने में सक्षम थीं जबकि यह 20 साल से अलग थे.

अध्ययन के अनुसार, यह दीर्घकालिक स्मृतियां जटिल सामाजिक संबंधों का उत्पाद हैं, जो डॉल्फिनों में समय के साथ-साथ विकसित हुआ है.

वैज्ञानिकों का यह शोध, 56 बॉटलनोज डॉल्फिनों के बीच संबंधों पर आधारित है, जिन्हें प्रजनन के लिए अमेरिका और बरमूडास के छह अलग-अलग एक्वेरियम्स से लाकर एक साथ रखा गया था.

पहले डॉल्फिनों की सीटियों को रिकॉर्ड किया गया और डॉल्फिनों की प्रतिक्रिया देखने के लिए दस साल बाद वही रिकॉर्डिग्स पानी के अंदर लगे स्पीकरों के माध्यम से फिर से बजाई गई. रिकॉर्डिग्स बजने के बाद डॉल्फिनों की जो प्रतिक्रिया थी वह कई वर्षो से नहीं देखी गई थी.

शोध के प्रमुख जेसन ब्रुक ने कहा, “जब डॉल्फिनों ने आवाज सुनी, वह काफी देर तक लाउडस्पीकर के आसपास लटकी रहीं.”

ब्रुक के अनुसार डॉल्फिनों को ऐसी पुरानी स्मृतियां याद रहना पशु व्यवहार के अध्ययन में अभूतपूर्व घटना है.

वैज्ञानिकों ने निष्कर्ष निकाला कि डॉल्फिन में भी निश्चित घटनाओं को याद करने की अद्भुत क्षमता है जो उनके ज्ञान भंडारण योग्यता को मनुष्य, वनमानुषों और हाथियों की स्मृति क्षमता से तुलना करने योग्य बनाती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *