राहुल मामा के घर से लाये पैसा-मोदी

रायपुर | संवाददाता: राहुल गांधी क्या मामा के घर से पैसे लेकर आये हैं ? यह चुभता हुआ सवाल नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ की एक सभा में उछाला. छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के दौरान मुद्दों के बजाये व्यक्ति को निशाना बनाने और बदजुबानी का दौर थमता नहीं दिख रहा है. दिग्विजय सिंह को पागल कहा जा रहा है तो नरेंद्र मोदी को चाय बेचने वाला. अब गुरुवार को नरेंद्र मोदी भड़के. उन्होंने छत्तीसगढ़ में कई सभाओं को संबोधित किया.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि आजकल दिल्ली से काफी लोग आ रहे हैं. मैडम आई थीं. शहजादे आए थे. वो कह रहे हैं इतने हजार करोड़ छत्तीसगढ़ को दिए. मैं पूछता हूं कि क्या आप भीख का कटोरा लेकर खड़े हैं? क्या ये आपका अपमान नहीं है? पैसे दिए, पैसे दिए, कह रहे हो? मामा के घर से लाकर दिए क्या? कांग्रेस से कौन सीएम बनेगा कोई नहीं बता रहा, क्योंकि सब हार से डरे हुए हैं. पिछले दरवाजे का खेल क्यों खेला जा रहा?


अपनी सभा में नरेंद्र मोदी ने कहा कि सोनिया गांधी पर हमला बोलते हुये कहा कि मैडम, आप बीमार हैं, तो जिम्मेदारी शहजादे को सौंप दें. एक राज्य की जिम्मेदारी दो और 24 घंटे बिजली देकर दिखाओ. तब झूठे वादे करो.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि रमन सिंह यदि कांग्रेस में होते, तो यहां का प्रत्याशी अभिषेक होता. पर यहां का प्रत्याशी अभिषेक नहीं अशोक साहू है. कांग्रेस को पत्नी, बेटा, बाप के आगे कुछ नजर नहीं आता.

राजीव गांधी का पर निशाना साधते हुये नरेंद्र मोदी ने कहा कि शहजादे के पिता ने कहा था कि दिल्ली से एक रुपया भेजा जाता है, तो यहां आते-आते 15 पैसा हो जाता है. पंचायत से पार्लियामेंट तक कांग्रेस का झंडा था. कहीं भी भाजपा नहीं थी. वह कौन सा पंजा है, जो रुपए को घिसते-घिसते 15 पैसे कर देता है. भाजपा को कांग्रेस जैसा कहकर गाली न दें लोग.

मोदी ने कहा कि मुझे प्रधानमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित किए जाने से कांग्रेस बौखला गई है. उनको लगता है कि चाय बेचने वाला उनको चुनौती कैसे दे सकता है. प्रधानमंत्री कैसे बन सकता है. अमीर घराने में पैदा होने, शाही सल्तनत में जीवन बिताने वाले गरीबों का मजाक उड़ा रहे हैं. मैंने कुछ नहीं छिपाया. बचपन में रेल के डिब्बे में चाय बेचकर पेट भरता था. जेब काटकर नहीं. रोड पर बूट पॉलिश करने वाला भी क्षमता हो तो भारत का भाग्य विधाता बन सकता है.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि दिल्ली की सरकार अपने अच्छे कामों से नहीं, सीबीआई के बलबूते चल रही है. सपा, बसपा, डीएमके सबसे सीबीआई के नाम पर डराती है. सीबीआई कांग्रेस के लिए हर बीमारी की उत्तम दवाई बन गई है. डॉ. रमन सिंह अपने कार्यकाल के 10 साल का पूरा हिसाब जनता को दे रहे हैं.

नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी पर निशाना साधते हुये कहा कि पुरानी फिल्मों में जब लड़के वाले लड़की देखने आते थे, तब घर वाले सुंदर लड़की से चाय-नाश्ता परोसवाते थे. लेकिन मंडप में डिफेक्टिव लड़की को बैठाते थे. अब ये फिल्मों वाली बात नहीं चलेगी. कांग्रेस को बताना ही होगा कि उसका मुख्यमंत्री का चेहरा कौन है. कांग्रेस बहरूपिया है. वह नाम, निशान, नारा सब बदलती है केवल नीयत नहीं बदलती. कभी वह इंदिरा कांग्रेस थी अब इटली कांग्रेस हो गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!