मोदी फिर से ले शपथ: लालू प्रसाद

पटना | समाचार डेस्क: लालू प्रसाद में प्रधानमंत्री मोदी से फिर से शपथ लेने के लिये कहा है. उन्होंने कहा है कि मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ लेते वक्त गलत शब्द का इस्तेमाल किया था. लालू प्रसाद ने ट्वीट् किया है, ” देश को तोड़ने का इनका एजेंडा है ही क्योंकि पीएम ने देश की प्रभुता और अखंडता को अक्षुण्ण रखने की शपथ तो ली ही नहीं थी. शपथ में अक्षुण्ण की जगह अक्षण्ण बोला था. इसी वजह से शपथ बेकार थी. पीएम को दोबारा शपथ लेनी चाहिए. अक्षण्ण का हिंदी में कोई शाब्दिक अर्थ नहीं है.”

उल्लेखनीय है कि लालू प्रसाद के बेटे बड़े बेटे तेज प्रताप ने बिहार के मंत्री पद की शपथ लेते समय ‘अपेक्षित’ शब्द को ‘उपेक्षित’ पढ़ा था. जिसके कारण गवर्नर ने उन्हें टोका तथा फिर से शपथ दिलवाई.

लालू प्रसाद के बेटे द्वारा गलत शपथ लिये जाने पर सोशल मीडिया में हंगामा खड़ा कर दिया गया. रविवार के लालू प्रसाद के ट्वीट को उससे जोड़कर देखा जा रहा है.

वरिष्ठ पत्रकार ओम थानवी ने फेसबुक के पेज पर 26 मई 2014 को प्रधानमंत्री मोदी के शपथ ग्रहण समारोह का वीडियो शेयर करते हुये कमेंट किया है, ” लालू के बेटे तेज प्रताप ने शपथ के पाठ में त्रुटि की, राज्यपाल महोदय ने उन्हें टोका और एक शब्द (‘अपेक्षित’) को सुधरवाया, शपथ दुबारा दिलवाई. एक किंचित सुधार ‘जब-तब’ में भी करवाया. भला किया….तो अब जब परम्परा कायम ही हो गई, क्या अन्य शपथों में भी सुधार संभव होगा? और तो और, प्रधानमंत्री मोदी ने अपने अपूर्व शपथ-ग्रहण समारोह – जिसमें अनेक राष्ट्राध्यक्ष भी मौजूद थे – में बोला था: “मैं भारत की प्रभुता और अखण्डता का अक्षण्ण रखूँगा.” इस वाक्य का कोई अर्थ नहीं निकलता. हिंदी में ‘अक्षण्ण’ कोई शब्द है भी नहीं. “का अक्षुण्ण” करेंगे तब भी नहीं चलेगा; “को अक्षुण्ण” करना पड़ेगा, तब सही वाक्य बनेगा और अपेक्षित अर्थ देगा. कर लेना चाहिए, वरना कभी कोई कह न दे कि देश की प्रभुता और अखण्डता को अक्षुण्ण रखने की शपथ तो प्रधानमंत्री ने ली ही नहीं थी. ली थी क्या?”

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मोदी के शपश ग्रहण समारोह को यूट्यूब में पीएमओ की तरफ से पोस्ट किया गया है. इस वीडियो को पीएमओ द्वारा शेयर किये जाने के 3 घंटे बाद ही एक व्यक्ति ने इस गलती को पकड़ा था. Chaman Bharti 3 hours ago “देश को तोड़ने का इनका एजेंडा है ही क्योंकि PM ने देश की प्रभुता और अखण्डता को “अक्षुण्ण” रखने की शपथ तो ली ही नहीं थी”

PMO INDIA


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *