रतनगढ़ मंदिर में भगदड़ कई हताहत

भोपाल | एजेंसी: दतिया के रतनगढ़ माता मंदिर में दर्शन करने जा रहे श्रद्धालुओं के बीच भगदड़ मचने से 60 लोगों की मौत हो गई. घटना में 100 से अधिक श्रद्धालु घायल भी हो गए हैं.

घटना रविवार को तब हुई जब भारी संख्या में श्रद्धालु मध्य प्रदेश के दतिया जिले के रतनगढ़ माता मंदिर में दर्शन करने जा रहे थे. अधिकारियों और प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मृतकों की संख्या बढ़ सकती है.


दरअसल रतनगढ़ माता मंदिर से पहले पड़ने वाले सिंध नदी के पुल पर भारी भीड़ थी. पुल संकरा है और उस पर मौजूद भारी भीड़ बेकाबू हुई तो पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया. इससे भगदड़ मच गई. एक तरफ श्रद्घालु जहां एक-दूसरे को कुचलते हुए भागने की कोशिश में लगे थे तो कई जान बचाने के लिए नदी में कूद गए.

चंबल परिक्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक डी. के. आर्य ने बताया कि इस हादसे में फिलहाल 60 लोगों की मौत हुई है और 100 से अधिक लोग घायल हैं. उन्होंने बताया कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है.

वहीं दतिया के विधायक और सरकार के प्रवक्ता नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि भगदड़ की वजह पुलिस लाठीचार्ज नहीं, बल्कि पुल टूटने की अफवाह है. वास्तविकता की जानकारी लेने के लिए वह खुद रतनगढ़ पहुंच रहे हैं.

सूत्रों ने बताया कि रतनगढ़ में हर वर्ष नवरात्र के मौके पर और नवमी पर लाखों श्रद्घालु दर्शन करने पहुंचते हैं. रविवार को भी लाखों लोग मंदिर जा रहे थे. मंदिर पहुंचने से पहले सिंध नदी पर बने पुल से होकर गुजरना होता है. यह पुल संकरा है. रविवार को अधिकांश श्रद्घालु टैक्टर व अन्य वाहनों से मंदिर की ओर जा रहे थे. पुल पर वाहनों का जाम लग गया और पुलिस ने बल प्रयोग किया, जिससे भगदड़ मची और कई लोग नदी में कूद गए.

नदी में कूदे श्रद्घालुओं की तलाश की जा रही है, वहीं घायलों को निकालकर अस्पताल ले जाने की केाशिश जारी है. सबसे बड़ी दिक्कत घायलों को लेकर जाने में आ रही है, क्योंकि हर तरफ वाहनों की लम्बी कतार है और जाम जैसी स्थिति बनी हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!