मध्य प्रदेश में बाढ़ से 37 मरे

भोपाल | समाचार डेस्क: मध्य प्रदेश में बाढ़ से एक सप्ताह में 37 लोगों तथा 70 पशुओं की जाने जा चुकी है. इसके अलावा नौ हजार से मकानों को नुकसान पहुंचा है और इनमें से लगभग तीन सौ मकान तो पूरी तरह नष्ट हो गए हैं. मध्य प्रदेश में पिछले चार दिनों से तेज और रुक-रुक कर जारी बारिश से कई इलाकों में बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं. नदी, नालों के उफान पर होने से कई सड़कें पानी में डूब गई हैं, जिससे आवागमन बाधित हो रहा है. वहीं बारिश के कारण हुए हादसों में पिछले एक सप्ताह में 37 लोगों की मौत हो चुकी है. भोपाल स्थित राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से रविवार को मिली जानकारी के अनुसार रतलाम, आगर-मालवा, शाजापुर, मंदसौर, सीहोर, उज्जैन आदि जिलों में भारी बारिश ने जनजीवन बुरी तरह प्रभावित कर दिया है. नदियों का जलस्तर बढ़ गया है, जिसके कारण कई गांवों में पानी भर गया है.

भारी बारिश के कारण कई इलाकों में सड़क संपर्क बाधित हो रहा है और जान-मान की भी हानि हो रही है.

राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हालांकि अत्यधिक बारिश और बाढ़ से प्रभावित लोगों को तत्काल राहत राशि देने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने शनिवार को अतिवृष्टि एवं बाढ़ की स्थिति की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को स्थिति पर सतत नजर बनाए रखने और तत्काल आवश्यक उपाय करने के निर्देश दिए.

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन-जिन स्थानों पर बाढ़ का पानी आ जाता है, वहां सड़कों में तत्काल अवरोधक लगवाएं. सड़क पर पानी होने की स्थिति में आवागमन को सख्ती से रोकें. साथ ही उन्होंने आदेश दिया था कि टूटते हुए पुल-पुलियाओं की शीघ्र मरम्मत की जाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *