मुकेश अंबानी का रुतबा सबसे बुलंद

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: भारत के रईसों में मुकेश अंबानी का रुतबा सबसे बुलंदी पर है. इस बार भी वे देश के सबसे अमीर आदमी घोषित किये गये हैं. रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबानी कुल 1,60,950 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ लगातार चौथे साल देश के सबसे अमीर शख्स बने हुए हैं. हुरून रिपोर्ट इंडिया के प्रमुख अनस रहमान जुनेद ने कहा, “कुल 160,951 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ रिलायंस के मुकेश अंबानी देश के सबसे अमीर शख्स बने हुए हैं. हालांकि, पिछले साल की तुलना में उनकी संपत्ति में तीन फीसदी की कमी आई है.”

विप्रो के अजीम प्रेमजी परोपकार स्वरूप दान के कारण शीर्ष पांच अरबपतियों की सूची से बाहर हो गए हैं, जबकि बेंगलुरू की बायोटेक दिग्गज किरण मजुमदार-शॉ शीर्ष अमीरों की सूची में शामिल होने वाली अकेली महिला हैं, जिनकी संपत्ति छह फीसदी कमी के साथ 6,143 करोड़ रुपये हो गई है.


रिपोर्ट के मुताबिक, “भारत में मोबाइल फोन तथा ई-कॉमर्स ने इस साल अच्छा किया, जबकि अन्य जैसे रियल एस्टेट तथा ऊर्जा के लिए यह साल खराब रहा है. कुल मिलाकर उद्यमियों के लिए यह साल औसत रहा है.”

रिपोर्ट में कहा गया है कि लंदन के एसपी हिंदुजा तथा हिंदुजा समूह परिवार पिछले साल छठे पायदान पर था, जबकि इस साल यह तीसरे पायदान पर पहुंच गया है. 43 फीसदी के इजाफे के साथ कुल संपत्ति 103,030 करोड़ रुपये हो गई है. वहीं एचसीएल के संस्थापक-अध्यक्ष शिव नादर चौथे पायदान पर हैं.

संपत्ति में कुल 33 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ कोटक महिंद्रा बैंक के उपाध्यक्ष व प्रबंध निदेशक उदय कोटक शीर्ष 10 अरबपतियों की सूची में शामिल हो गए हैं, जिनकी संपत्ति 47,608 करोड़ रुपये है.

भारत के अमीरों की कुल संपत्ति 478 अरब अमरीकी डॉलर है, जो पिछले साल देश के सकल घरेलू उत्पाद का 22 फीसदी है, जबकि संयुक्त अरब अमीरात (402 अरब डॉलर), दक्षिण अफ्रीका (350 अरब डॉलर) तथा सिंगापुर (308 अरब डॉलर) के जीडीपी से अधिक है.

डेटा एनालिटिक्स कंपनी मू सिग्मा के संस्थापक धीरज राजाराम की संपत्ति सबसे तेजी से बढ़ी है और 593 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ यह 17,790 करोड़ रुपये हो गई है.

इसके विपरीत कुछ अमीरों की संपत्ति में रिकॉर्ड कमी आई है. इंडस गैस के अजय कालसी की संपत्ति 242 फीसदी तक गिर गई है, जिस कारण वे सूची के निचले पायदान पर पहुंच गए हैं.

मुंबई सबसे अमीर लोगों का ठिकाना बना हुआ है, जहां 29 फीसदी अरबपति रहते हैं, जिसके बाद दिल्ली में 19 फीसदी और बेंगलुरू में आठ फीसदी रहते हैं.

अमीरों की सूची में विनिर्माण (15 फीसदी) का बोलबाला है, जिसके बाद फार्मा (9 फीसदी) और रियल एस्टेट (6 फीसदी) क्षेत्र है.

ओला कैब के सह-संस्थापक अंकित भाटी तथा भाविश अग्रवाल सूची में युवा उद्यमी के रूप में दर्ज हैं, जिसके बाद बालकृष्णा इंडस्ट्रीज के राजीव पोद्दार हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!